शिवहर। डीएम अरशद अजीज ने बुधवार को चिकित्सा पदाधिकारियों की एक अहम बैठक बुलाई। जिसमें उन्होंने बताया कि हम सभी लोकसेवक हैं, हमारा दायित्व है कि पूरी निष्ठा के साथ जनता की सेवा करें। जनता भी यही अपेक्षा रखती है वहीं हमारा धर्म भी यही कहता है। कहा कि हमेशा ऐसी शिकायतें आती हैं कि डॉक्टर साहेब देर से आते हैं और जल्दी चले जाते हैं। नतीजतन मरीजों को सही उपचार नहीं मिल पाता और न ही सरकार द्वारा दी गई चिकित्सा सुविधाओं का लाभ जरुरतमंदों को मिल पाता है। सख्त लहजे में कहा कि इस मिथक को तोड़ते हुए दोषपूर्ण कार्यशैली का परित्याग कीजिए। सुबह 6:00 बजे सभी चिकित्सक अपनी ड्यूटी पर पहुंचेंगे वहीं निर्धारित अपराह्न 2:00 बजे के बाद ही वहां लौटेंगे। यह भी निर्देश दिया गया कि पूरे समर्पण भाव एवं पूरी निष्ठा के साथ मरीजों का इलाज करें। साथ ही उनके साथ मानवीयता पूर्ण व्यवहार करें। सिविल सर्जन डॉ. धनेश कुमार सिंह को निर्देशित किया गया कि आवश्यक दवाओं की खरीद करते हुए उसकी उपलब्धता सभी पीएचसी पर सुनिश्चित करें। सदर अस्पताल एवं मातृ शिशु अस्पताल में एक्सरे की सुविधा नहीं होने पर नाराजगी जताई। इस कमी को यथाशीघ्र दूर करने का निर्देश दिया। अस्पतालों में साफ सफाई के प्रति संजीदगी बरतने का भी निर्देश दिया। कहा कि आउटसोर्सिंग के माध्यम से की गई साफ सफाई अगर संतोषजनक नहीं है तो उसे तुरंत टर्मिनेट किया जाए। बैठक में डॉ. अनिल कुमार सिंह एवं डॉ. ओमप्रकाश के अनुपस्थित रहने पर कड़ी नाराजगी जताई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस