शिवहर। शनिवार का दिन शिवहर पुलिस के लिए उपलब्धियों भरा रहा। एक ओर जहां 24 घंटे के भीतर लूट कांड में शामिल बदमाशों को दबोचने में सफलता मिली। जिसके पास से लूट के रुपए, घटना में प्रयुक्त बाइक एवं मोबाइल भी बरामद कर लिया गया है। वहीं दूसरी ओर बाइक चोर गिरोह का पर्दाफाश एवं बाइक चोर को भी धर लिया गया। इसे लेकर एसपी संतोष कुमार ने कार्यालय कक्ष में प्रेसवार्ता की। इस दौरान बताया गया कि तरियानी थानांतर्गत औरा गांव में फाइनेंस लिमिटेड कंपनी के कर्मी की बाइक को धक्का देकर बाइक सवार बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया। जिसमें डिक्की से 92 हजार 500 रुपये लूट लिए वहीं फाय¨रग करते भाग निकले। इस बाबत तरियानी थाने में पीड़ित रघुवंश कुमार ग्राम डिहुली गोआईत, जिला मुजफ्फरपुर ने रपट दर्ज कराई। जिसमें लदौरा निवासी अरुण कुमार राय पर घटना में शामिल होने का संदेह जताया। मामले पर एसपी संतोष कुमार द्वारा स्वयं के निर्देशन में टीम गठित कर मामले की अनुसंधान एवं छापेमारी प्रारंभ कर दी। नतीजा हुआ कि एक एक कर परत खुलते चले गए। पहली छापेमारी में लदौरा से अरुण कुमार को उठाया गया। जिसने खुद का अपराध कबूलते हुए लाइनर होने एवं लूट करवाने की बात स्वीकार की। उसकी निशानदेही पर मुजफ्फरपुर के औराई थानांतर्गत अतरार निवासी कौशल दास एवं संतोष सहनी को हिरासत में लिया गया। जिसमें संतोष सहनी के पास लूट के 23 हजार रुपए बरामद किए गए। उक्त दोनों अपराधियों ने अपना जूर्म कबूल किया वहीं बताया कि इस लूट योजना में मुजफ्फरपुर जिले के हथौरी थानांतर्गत सरहद गांव का ललित सहनी एवं उपेंद्र सहनी भी सहयोगी है। एसपी गठित उक्त टीम ने ललित सहनी के घर से लूट में प्रयुक्त बिना नंबर की पल्सर बाइक एवं चार मोबाइल फोन बरामद कर लिया। जबकि उक्त ललित एवं उपेंद्र हाथ नहीं आया। एसपी श्री कुमार ने बताया कि ये सारी कवायदें महज 24 घंटे के भीतर कर मामले का उद्भेदन कर लिया गया है। पूछताछ में उक्त अपराधकर्मियों ने मुजफ्फरपुर के हथौरी थाना कांड संख्या 227/18, 251/18 एवं 257/18 में अपनी संलिप्तता कबूल की है। वहीं गिरफ्तार अरुण कुमार राय, कौशल दास एवं संतोष सहनी को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। बताया कि उक्त छापेमारी में एसडीपीओ राकेश कुमार, तरियानी थानाध्यक्ष रामाशीष कामत, पुअनि दयाशंकर साह एवं नंदकिशोर पंडित शामिल थे ।

Posted By: Jagran