शिवहर। मानसून की बेहिसाब मेहरबानी और चार दिनों से हो रही बारिश से चारों ओर जलजमाव एवं कीचड़ दिख रहे हैं। यही जिले के ऐतिहासिक देकुली धाम के समीप एनएच 104 पर गड्ढा एवं कीचड़ भारी परेशानी का सबब बना हुआ है। बागमती के दाएं तटबंध के नीचे जहां से कोपगढ एवं मोहारी को रोड जाती है चौक पर नारकीय स्थिति उत्पन्न हो गई है। स्मरण रहे कि उक्त सड़क एनएच 104 है जो चकिया- शिवहर एवं सीतामढ़ी को जोड़ती है।

इस होकर गुजरते वाहनों को फंसने का डर हमेशा बना रहता है वहीं कई दफा हादसे भी हुए हैं। बीच सड़क पर जलजमाव, कीचड़ एवं बेतरतीब गड्ढे खतरे को निमंत्रण देते हैं। इस समस्या पर जिला प्रशासन को गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है। बताते चलें कि महज पांच दिन बाद श्रावणी मेला प्रारंभ हो जाएगा। इस दौरान देकुली धाम स्थित बाबा भुवनेश्वर नाथ महादेव पर जलाभिषेक को लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ जुटेगी। समय पूर्व उक्त सड़क समस्या का समाधान नहीं किया गया तो दर्शन पूजन एवं जलाभिषेक को पहुंचनेवाले श्रद्धा़लुओं को खासी परेशानी होगी। इधर देकुली एवं धर्मपुर के बीच निर्माणाधीन पुलिया से अलग परेशानी है। इस बरसात में संवेदक की शिथिलता के कारण निर्माण कार्य अधूरा रहा। वहीं बनाए गए डायवर्सन में फिसलन एवं कीचड़ लोगों के लिए भारी समस्या बनी है। अगर निर्माण एजेंसी ने थोड़ी शीघ्रता दिखाई होती तो आज इस समस्या से दो - चार होने की नौबत नहीं होती।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस