शिवहर, जेएनएन। जिला मुख्यालय से दो किलोमीटर दूर चिकनौटा गांव स्थित बंसबाड़ी में ग्रामीणों ने एक बड़ा-सा बाज पक्षी देखा, जिसके डैने में एक हाई रिजॉल्यूशन कैमरा लगा हुआ है। पक्षी को देखते ही उसके संदिग्ध होने की खबर आग की तरह पूरे इलाके में फैल गई है। उसे देखने के लिए काफी लोग जमा हो गए।

लोगों ने बताया कि बाज बहुत देर से बैठा चुपचाप बैठा था। लोगों को उसके डैने में कुछ अजीब सी चीज दिखी तो जब उक्त बाज को नीचे उतारा गया तो उसके डैने पर कैमरा लगा मिला। मौजूद पूर्व मुखिया रमाकांत राम, अभिनंदन कुमार सहित अन्य ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना देने की सोची। तभी सामने सड़क से धनगश्ती दल के जवान दिख गए। उन्हें बुलाकर लोगों ने बाज को दिखाया और उन्हें ही पक्षी सौंप दिया गया। 

फिलवक्त बाज पक्षी को नगर थाना में पुलिस अभिरक्षा में रखा गया है। प्रभारी थानाध्यक्ष सुदामा राय ने बताया कि वन विभाग को संबंधित जानकारी दे दी गई है। 

वहीं एसपी संतोष कुमार ने बताया कि इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दी गई है। कैमरा से लैस बाज पक्षी की बाबत बताया कि जांच के बाद ही स्पष्ट रुप कुछ कहा जा सकेगा। 

वहीं इस बीच जिले में तरह- तरह की चर्चाएं जोर पकड़ने लगी हैं। कोई उक्त बाज को पड़ोसी पाक द्वारा भेजा गया बता रहा तो कोई अवांछित तत्वों की कारस्तानी। जांच के बाद ही सही तथ्य की जानकारी हो सकेगी।

महनार में भी संदिग्ध पक्षी बरामद हुआ था

बता दें कि इससे पहले भी बिहार के महनार में भी एक संदिगध पक्षी मिला था जिसके डैने में डिवाइस लगी थी, जिसे चिड़ियों ने ही मार गिराया था। उस मृत विदेशी पक्षी के बरामद होने से सनसनी फैल गयी थी। स्थानीय नीय पक्षियों एक विदेशी पक्षी को घेर कर मार गिराया था। विदेशी पक्षी के शरीर पर डिवाइस लगा दिखा तो इसकी जानकारी पुलिस को दी गई थी। पुलिस मौके पर पहुंच मृत पक्षी को उठाकर अपने साथ ले गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कहा जा रहा है कि इस प्रकार की डिवाइस लगी चिड़ियां अक्सर पाकिस्तान से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर राजस्थान के जैसलमेर आदि में मिलती रही है। इस प्रकार की प्रशिक्षित चिड़ियों आदि की मदद से पाकिस्तान भारत की जासूसी करता है। 

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस