शिवहर। डीएम अरशद अजीज की अध्यक्षता में सीडब्ल्यूजेसी एवं एमजेसी मामलों की विभागवार समीक्षा शुक्रवार को की गई। इस दौरान बताया गया कि जिले में सीडब्ल्यूजेसी से जुड़े 51 एवं एमजेसी के 03 कुल 54 मामले लंबित हैं। डीएम श्री अजीज ने विभागीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि एक सप्ताह के अंदर उच्च न्यायालय में प्रतिशपथ- पत्र दायर कर शपथ पत्र संख्या सहित प्रतिवेदन विधि शाखा को देना सुनिश्चित करें। ताकि आगे सुचारू रूप से कार्य ससमय संपन्न हो सके। वहीं निदेशित किया कि फाइलों की ढ़ेर न लगाकर उसे प्राथमिकता के आधार पर निष्पादन करे की परंपरा विकसित करें। बैठक में अपर समाहर्ता शंभू शरण, सिविल सर्जन डॉ. विश्वंभर ठाकुर, डीआरडीए निदेशक र¨वद्र कुमार वरीय उपसमाहर्ता डॉ. अनिल कुमार दास, सत्येंद्र कुमार सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे। - शहर में ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी डीएम अरशद अजीज ने नगर पंचायत अंतर्गत संचालित योजनाओं की समीक्षा कर कई जरुरी निर्देश दिए। नपं कार्यपालक पदाधिकारी अमर मोहन प्रसाद को अतिक्रमणमुक्त कराने का निर्देश देते हुए कहा कि सबसे पहले नापी कराएं। तत्पश्चात अतिक्रमण वाले हिस्से पर लाल निशान अंकित किया जाए।संबंधित व्यक्ति को एक निश्चित समयावधि के अंदर अतिक्रमण हटाने के आशय का नोटिस जारी किए जाएं बावजूद अगर समयावधि के अंदर अतिक्रमण नहीं हटाया जाता है तो अपने स्तर से अतिक्रमण हटाते हुए सड़कों को खाली कराएं ताकि जाम की समस्या से निजात मिले और आवागमन सुगम हो सके। डीएम ने निर्देशित किया कि सड़क किनारे नाली पर लगे दुकानों को भी यथाशीघ्र हटाया जाना सुनिश्चित करें। वहीं शहर में जाम से मुक्ति के लिए तय किया गया कि शहर में सुबह 8:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे के बीच ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी। टेम्पो एवं बाइक पार्किंग के लिए स्टैंड का स्थान चिन्हित करने का निर्देश दिया गया। यह भी निर्देश दिया गया स्टैंड हो जाने के बाद यत्र-तत्र वाहन लगाने पर वाहन चालकों को जुर्माना देना होगा। समीक्षा बैठक में नपं को निर्देश दिया गया कि शहर में जहां भी जल जमाव की समस्या है उसे शीघ्र दूर करना सुनिश्चित करें। मौके पर एसपी संतोष कुमार, एसडीओ मो. आफाक अहमद, नगर पंचायत अध्यक्ष अंशुमाननंदन ¨सह, जिला परिवहन पदाधिकारी वीरेन्द्र कुमार सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran