शिवहर। लगातार जोरदार बारिश जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। चार दिन की बारिश से लोग उबने लगे हैं। वहीं गुरुवार को भी फिर से हुई झमाझम बारिश ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। शिवहर- सीतामढ़ी पथ एनएच 104 एवं शिवहर मोतिहारी पथ एसएच 54 पर इसका सीधा प्रभाव दिख रहा है। कीचड़ एवं जल जमाव होने से दूसरे दिन भी जिले के दोनों पड़ोसी जिलों से सड़क संपर्क बाधित रहा। बड़े वाहन तो दूर बाइक तक निकलना मुश्किल हो गया। नतीजतन लोग वैकल्पिक रुट से गंतव्य तक जाने को मजबूर दिखे। मालूम हो कि बागमती तटबंधों के बीच डुब्बा घाट के समीप लंबी दूरी तक कीचड़ का साम्राज्य होने से पैदल चलने में दिक्कत हो रही हैं। इससे कहीं अधिक परेशानी बेलवा घाट के समीप है जो जिले की पश्चिमी सीमा पर है। यहां करीब तीन किलोमीटर की सड़क कीचड़ एवं जल जमाव की गिरफ्त में है। जहां सड़क और बगल के खेतों में फर्क नहीं है। इधर बागमती के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए लोग सशंकित हैं कि कोई आश्चर्य नहीं है कि बाढ का पानी सड़क पर आ जाए। तब स्थिति और भी भयंकर होगी। वहीं नुकसान भी ज्यादा होगा। की है कहना न होगा कि चार दिनों की बारिश ने जिलावासियों को पूरब एवं पश्चिम दिशा में जाने पर पाबंदी लगा दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप