शिवहर। डीएम सज्जन राजशेखर ने लोक शिकायत के मामलों का प्राथमिकता के आधार पर निष्पादन का आदेश दिया है। वहीं मामलों के निष्पादन के प्रति बेपरवाही और जिलास्तरीय सुनवाई के दौरान अधिकारियों की अनुपस्थिति की स्थिति में कार्रवाई की चेतावनी दी है। शनिवार को समाहरणालय के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में डीएम ने लोक शिकायत निवारण कार्यालय से संबंधित मामलों की समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि अक्सर देखा जाता हैं कि जिला और अनुमंडलस्तरीय सुनवाई के अधिकारी अधिकारी खुद उपस्थित होने की बजाये अपने अधीनस्थ कर्मियों को भेज देते है। डीएम ने कहा कि अब ऐसा नहीं चलेगा। समीक्षा के दौरान डीएम ने मनरेगा से संबंधित मामलों में परिवाद के नेगेटिव होने की स्थिति में परिवादी को बुलाकर तथा उन्हें तथ्यात्मक सुझाव देकर परिवाद को डिस्पोजल करने का सुझाव जिला व अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी को दिया। राशन कार्ड से संबंधित परिवादों की समीक्षा करते हुए डीएम ने कहा कि अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी विभाग की अधिसूचना के अनुरूप यदि परिवाद सुनवाई योग्य है तो सुनवाई करेंगे अन्यथा परिवादी का सुझाव देकर मामले को ससमय निष्पादन करेंगे। डीएम ने बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों को कहा कि निगेटिविटी के मामले में लोक प्राधिकार को नोटिस नहीं किए जाने का निर्देश है। भूमि विवाद से संबंधित मामलों के त्वरित निष्पादन के लिए सभी थानाध्यक्ष व अंचल अधिकारी को अधिकाधिक मामलों का निपटारा कराने का निर्देश दिया गया। धारा 107 के तहत सभी मामलों को अलग से पंजी संधारित करने और मामलों का ससमय निष्पादन करने का निर्देश थानाध्यक्ष व अंचल अधिकारी को दिया गया है। बैठक के दौरान कार्यपालक अभियंता विद्युत को जिले के सभी प्रखंडों में लूज वायर व पोल को हर हाल में सुव्यवस्थित कर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

बैठक में उपस्थित सभी जिलास्तरीय व क्षेत्रीय लोक प्राधिकार को लोक शिकायत निवारण संबंधित लंबित परिवादो को युद्धस्तर पर ससमय निष्पादित करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में उप विकास आयुक्त विनोद दुहन, अपर समाहर्ता शंभू शरण, एसडीसी सुनील दत्त झा, सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी कुमार विवेकानंद, एसडीओ मो. इश्तियाक अली अंसारी, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय शशि शेखर कुमार, एसडीपीओ संजय कुमार पांडे, कार्यपालक अभियंता विद्युत श्रवण कुमार ठाकुर, कार्यपालक अभियंता बागमती प्रमंडल, सभी सीओ, सभी बीडीओ व सभी थानाध्यक्ष मौजूद थे।

Edited By: Jagran