शिवहर। जिले की ज्वलंत समस्याओं के समाधान को लेकर संघर्षशील युवा अधिकार मंच ने चितन शिविर का आयोजन किया। मुख्यालय स्थित ब्लॉसम प्ले स्कूल में आहूत शिविर में मौजूद प्रबुद्ध जनों ने जिले की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था को जिलेवासियों के साथ चल बताया वहीं जान के साथ खिलवाड़ भी। कहा कि जिले में समुचित चिकित्सा सुविधा नहीं होने से रेफर मरीज अमूमन मौत के शिकार होते रहते हैं। वहीं मौजूद युवाओं ने चेतावनी दी व्यवस्था में यथाशीघ्र परिवर्तन नहीं दिखा तो इसे आंदोलन से जोड़ा जाएगा।

वक्ताओं ने कहा कि यहां अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी, दवाओं का अभाव एवं जांच की मुकम्मल सुविधा नहीं है। ऐसे में इलाज की महज खानापूर्ति होती है। निराश एवं मजबूर मरीज एवं परिजन प्राइवेट क्लिनिक या फिर नर्सिंग होम में आर्थिक दोहन के शिकार होते हैं। मौजूद बुद्धिजीवी एवं युवाओं ने तय किया कि इन गतिरोधों को दूर करने के लिए अब ठोस एवं निर्णायक रणनीति की आवश्यकता है। समस्याओं के समाधान के लिए निर्णायक संघर्ष का आवाहन कर रहे है। सहमति बनी कि जिस भी अस्पताल में चिकित्सक प्रतिनियुक्त हैं वहां उनकी उपस्थिति की जांच सामाजिक स्तर पर भी की जानी चाहिए। जरुरत पड़ी तो इसके लिए आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं होगा। मौके पर रवि रंजन, मुकुंदप्रकाश मिश्र, आदित्य कुमार, अभय कुमार सिंह, राधेश्याम सिंह, राकेश चौधरी, अभिषेक यादव, नीतेश ठाकुर, विकासानंद शाही, राहुल कुमार, अरविद कुमार, दीपक कुमार, पप्पू पांडेय, रामबाबू कुमार, मुकुंद सिंह एवं, सन्नी कुमार चौहान सहित अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप