शेखपुरा [जेएनएन]। जिले में शराब धंधे के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए एसपी ने चेवाड़ा थाना के एसएचओ समेत पूरी टीम को लाइन हाजिर कर दिया है। एसपी दयाशंकर ने चेवाड़ा के बेलदारिया में चल रहे शराब धंधे में पुलिस की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए ये कार्रवाई की गई है। 
एसपी ने बताया कि एसडीएम तथा एसडीपीओ की जांच रिपोर्ट पर यह कार्रवाई की गई है। इस कार्रवाई में चेवाड़ा के एसएचओ तथा पूरी पुलिस टीम को पुलिस लाइन भेज दिया गया है। चेवाड़ा बेलदारिया में चल रहे शराब के धंधे में चेवाड़ा थाने की भूमिका को संदिग्ध पाया गया है।
यह जांच शराब के विवाद धंधेबाज द्वारा  एक महिला और उसके गर्भस्थ शिशु के पेट में लात मार कर हत्या किए जाने के बाद की गई। 
एसपी ने बताया कि गुरुवार को ही ट्रैफिक ड्यूटी से गायब मिले दो पुलिस जवान के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की है। बताया गया कि गुरुवार को जिला के विभिन्न थाने की पुलिस ने शराब धंधे के खिलाफ कार्रवाई करके अरियरी तथा चेवाड़ा थाना क्षेत्र में चार दर्जन से अधिक शराब भट्ठियों को ध्वस्त किया। हालांकि, इस कार्रवाई में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी ।
जागरण ने प्रमुखता से प्रकाशित की थी खबर 
चेवाड़ा के बेलदारी गांव में मंगलवार की रात शराब के नशे में धुत धंधेबाज उमेश केवट पड़ोसी बबलू मांझी से मारपीट करने लगा। बीच-बचाव करने पहुंची बबलू की पत्नी आठ माह की गर्भवती रीता देवी के पेट में उमेश ने जोर से लात मारी। इससे वह गिर पड़ी और गर्भपात हो गया।पटना जाने के रास्ते में ही रीता ने दम तोड़ दिया। 
बबलू मांझी ने इसके बाद मीडिया से कहा था कि गांव में रोज शराब चुलाई और पी जा रही है। लोग नशे में धुत होकर बेवजह आपस में मारपीट करते हैं। 

Posted By: Kajal Kumari