छपरा [जेएनएन]। दरवाजे पर बैंड बाजे बज रहे थे। घर में महिलाएं मंगल गीत गा रही थीं। घर पर परिछन की तैयारी चल रही थी। दूल्हा मंडप में बैठ कर कुंअरपत का भात खा रहा था। दरवाजे पर गाडिय़ों की कतार लगी हुई थी। लोग बारात जाने के लिए तैयार थे। तभी अचानक दूल्हे के मंसूबे पर पानी फिर गया। दरवाजे पर पुलिस आ धमकी। पुलिस को देखकर लोग स्तब्ध हो गए। लेकिन बाद में दूल्‍हे के छोटे भाई ने ऐसा काम किया कि लोग वाह-वाह कह उठे।  

दरअसल यह पूरा मामला है छपरा के मांझी थाना क्षेत्र का। शादी करने के लिए धनंजय जा रहा था। तभी धनंजय को प्रियंका देवी ने अपना पति बताते हुए मांझी थाने की पुलिस लेकर दरवाजे पर पहुंच गयी। प्रियंका जमशेदपुर की रहनेवाली है। प्रियंका की शिकायत के बाद पुलिस ने दूल्हा धनंजय को गिरफ्तार कर लिया. इतना ही नहीं, उसके पिता सुरेश प्रसाद को भी पकड़कर वह अपने साथ लेते गयी। इसके बाद तो सिनेमा की तरह वहां का माहौल ही बदल गया। लेकिन मुहल्लेवालों ने लड़कीवालों की फजीहत नहीं होने दी। आनन-फानन में गिरफ्तार दूल्हे के छोटे भाई से दुल्हन की शादी रचा दी।

बताया जाता है कि झारखंड के जमशेदपुर जिला अंतर्गत मानगो थाना क्षेत्र के डिमना निवासी प्रियंका की शादी मांझी थाना क्षेत्र के उडिय़ानपुर निवासी सुरेश प्रसाद के पुत्र धनंजय प्रसाद से 2012 में हुई थी। प्रियंका कभी सोची भी नहीं थी कि मेरे रहते मेरा पति दूसरी शादी रचाएगा। प्रियंका अपनी आंखों में सपना संजोकर उडिय़ानपुर ससुराल पहुंची। कुछ दिन तो सब कुछ ठीक ठाक चला। लेकिन, कुछ ही दिनों बाद उसका पति शराब पीकर आता और उसके साथ मारपीट करता। शराब पीने से मना करने पर तो धनंजय और अधिक उग्र हो जाता था। ससुराल वाले भी उसका सहयोग नहीं करते थे। 

इस बीच प्रियंका अपने मायके जमशेदपुर चली गई। फिर ससुराल वाले पति के सुधर जाने की बात कह कर ले आये। कुछ दिन ठीक रहा, फिर वही पीड़ा शुरू हो गई। इन लोगों की प्रताडऩा से तंग आकर प्रियंका ने दो बार आत्महत्या की ओर कदम उठा लिया था। इसी बीच वह एक बच्चे की मां बन गई। 

प्रियंका का कहना है कि मैं प्रताडऩा से तंग आकर मायके रहने लगी और अपनी जीवन यापन के लिए गैस एजेंसी में नौकरी करने लगी। इसी बीच पता चला कि पति धनंजय दूसरी शादी कर रहे हैं। तब मैं मांझी थाने पुलिस के साथ जब ससुराल पहुंची तो देखा कि बारात निकालने की तैयारी चल रही थी। तभी पुलिस ने मेरे पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया और मांझी लेकर चली आई। मेरे ससुराल का मुकेश नामक लड़का केस उठाने के लिए धमकी देने लगा। 

उधर दूल्हे की गिरफ्तारी के बाद मुहल्लेवालों ने अच्छा कदम उठाया। दूल्हे के छोटे भाई प्रदीप की शादी उस लड़की से करा दी। उसकी शादी रघुनाथपुर निवासी सुदामा प्रसाद की पुत्री से हो गई। वहीं प्रियंका ने थाने में आवेदन देकर छह लोगों को अभियुक्त बनाया है। इसमें ससुर सुरेश प्रसाद, सास विद्यावती देवी, भैंसुर दिलीप प्रसाद, जेठानी रोहणी देवी, देवर प्रदीप कुमार एवं संदीप कुमार को अभियुक्त बनाया है। हालांकि पुलिस ने फिलहाल धनंजय और उसके पिता को गिरफ्तार कर मामले की छानबीन कर रही है।

 

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप