सारण। जिले में एकबार फिर से टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों को ढूंढ कर उन्हें टीकाकृत करने के लिए सर्वे अभियान शुरू कर दिया गया है। इस सर्वे के द्वारा मुख्य रूप से उन सभी 15-18 वर्ष आयुवर्ग के किशोरों को चिह्नित कर टीका दिया जाएगा, जो किसी भी कारणवश अभी तक टीका नहीं ले पाये हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर छूटे किशोरों को खोजकर चिह्नित किया जा रहा है। फरवरी में होने वाली मैट्रिक और इंटर की परीक्षाओं के मद्देनजर मंगलवार से जारी इस अभियान के दौरान जिले में टीकाकरण से छूटे सभी किशोरों को चिह्नित करने और टीका लेने के लिए प्रेरित करने में आइसीडीएस पूरा सहयोग दे रहा है। सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सर्वे करने को निर्देशित कर दिया गया है। फिलहाल इस सर्वे में जिले की सभी आंगनबाड़ी सेविकाएं पूरी गंभीरता से अपनी भूमिका निभा रही हैं, ताकि एक भी वंचित टीकाकरण से ना छूटने पाये। वह अपने -अपने कार्यक्षेत्र में घर -घर घूमकर ना सिर्फ टीकाकरण से वंचित किशोरों की सूची बना रही हैं, बल्कि उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित भी कर रही हैं। सिविल सर्जन डा. सागर दुलाल सिन्हा ने बताया किशोर टीकाकरण सर्वे के साथ- साथ सतर्कता डो•ा से वंचित 60 प्लस आयु वर्ग के लाभार्थियों को भी चिह्नित करने का कार्य किया जा रहा है, ताकि उन सभी बुजुर्गों को जो गंभीर रोगों से जूझ रहे हैं या 60 प्लस से ऊपर के हो चुके हैं उन्हें बूस्टर डो•ा मिल सके। घर - घर जाकर 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों का आंगनबाड़ी वार सूची तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। प्राप्त सूची के अनुसार सूक्ष्म कार्ययोजना तैयार कर उनका टीकाकरण कराने हेतु एक एएनएम को दो आंगनबाड़ी केंद्र से संबद्ध करते हुए कोविड 19 के टीका से आच्छादित सुनिश्चित कराने की बात कही गयी है। इसके साथ ही उक्त कार्य की सभी स्तर पर सघन अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण कराना सुनिश्चित किया जाएगा।

Edited By: Jagran