जागरण संवाददाता, छपरा : जयप्रकाश विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों की सूची खेल एवं युवा मंत्रालय ने तलब की है। एनएसएस के क्षेत्रीय निदेशक विनय कुमार ने जेपीयू के एनएसएस समन्वयक को पत्र भेजकर अविलंब ब्योरा देने का निर्देश दिया है। इसके आधार पर कॉलेजों को अनुदान मिलेगा।

क्षेत्रीय कार्यालय के पदाधिकारी का पत्र मिलने के बाद विवि प्रशासन एक्शन में आ गया है। जेपीयू के एनएसएस समन्वयक प्रो. हरिश्चंद्र ने छपरा, सिवान एवं गोपालगंज के सभी अंगीभूत एवं संबद्ध कॉलेजों के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के कार्यक्रम पदाधिकारियों को ईमेल भेजकर तय फॉर्मेट में सूची देने को कहा है। इसमें स्वयंसेवक का नाम, ई मेल, फोन/ मोबाइल, संस्था का नाम एवं जिला का नाम देने को कहा गया है। पत्र में कहा गया है कि कार्यक्रम पदाधिकारी अपने- अपने इकाई के एक-एक सौ कैडेटों का तय प्रारूप में वेबसाइट - 4ड्डस्त्रड्ड1स्त्रह्मद्धड्डह्मद्बह्यद्धष्द्धड्डठ्ठस्त्र@द्दद्वड्डद्बद्य.ष्श्रद्व पर सूची अपलोड करें। विश्वविद्यालय के 60 यूनिट के अनुसार छह हजार कैडेटों की सूची देनी है।

उल्लेखनीय हो कि क्षेत्रीय निदेशक ने पत्र में कहा है कि वित्तीय वर्ष 2020 -21 में एनएसएस इकाई को उतनी ही राशि दी जाएगी, जितनी स्वयंसेवकों की सूची विश्वविद्यालय प्रशासन कार्यालय को देगा। एनएसएस की गतिविधि सालों भर संचालित एवं विशेष आवासीय शिविर आयोजित करने के लिए राशि दी जाती है। राष्ट्रीय सेवा योजना के एक इकाई में कम से कम एक सौ छात्र- छात्रा होने चाहिए। इसी आधार पर राशि आवंटित की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस