संसू, इसुआपुर (सारण) : प्रखंड का प्रसिद्ध महावीरी अखाड़ा मेला शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। परंपरागत हथियारों के साथ युवकों ने राणकौशल का प्रदर्शन किया। पुलिस प्रशासन की सक्रियता के कारण मनचलों की एक न चली। रात भर आर्केस्ट्रा में भीड़ लगी रही। इससे पूर्व मेले का उद्घाटन भाजपा विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा, जदयू नेता शैलेंद्र प्रताप, पूर्व विधायक जनक ¨सह आदि ने किया। मंच पर नेताओं को पगड़ी दे कर सम्मानित किया गया। इस बार कुल 14 अखाड़ों का जमघट लगा रहा। हाथी, घोड़े, ऊंट के साथ ट्रैक्टर ट्रालियों पर नर्तकियों के दल के साथ हनुमान जी की झाकियां और बड़े-बड़े झंडा जुलूस के आगमन से पूरे प्रखंड मुख्यालय में मानो जनसैलाब उमड़ पड़ा था। एसएच 90 पर आवागमन बंद कर दिया गया था। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए इस बार चार की जगह पांच मंच लगाए गए थे।

रात ढलने के साथ बढ़ता गया फुहड़पन

हनुमान चालीसा से शुरू मेले का समापन बुद्धिजीवियों को नागवार गुजरा। उनका कहना था कि ऐसे फुहड़ गीतों पर फुहड़ प्रदर्शन नहीं होना चाहिए था।

पुरसौली अखाड़ा पर भगवान के सभी रूपों पर भाव नृत्य प्रस्तुत किया तो दर्शकों ने भाव विभोर हो इस प्रस्तुति की सराहना की। अचितपुर अखाड़ा मंच, सतासी, आतानागर, बिष्णुपुरा और इसुआपुर मंच ने भी शुरआती दौर में अच्छे प्रदर्शन किये। लेकिन दर्शकों की बढ़ती भीड़ और फरमाइश पर जैसे-जैसे रात ढ़लती गयी नृत्य में फुहड़पन बढ़ता गया। सारी रात युवाओं की ़फौज धमाचौकड़ी मचाती रही। इस क्रम में धक्का-मुक्की करनेवाले युवक की बाइक पुलिस ने जब्त कर ली।

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए मढ़ौरा के ,अमनौर, मसरख , सहजितपुर, गौरा ओपी और नागरा पुलिस के साथ इसुआपुर थनाध्यक्ष अर¨वद पासवान के साथ भारी संख्या में जिला पुलिस के जवानो के साथ एसएसबी के जवान मुस्तैद रहे। वही एसडीओ, बीडीओ आदि पदाधिकारी लगे रहे। मौके पर मुखिया संगम बाबा, राम प्रकाश दास, बिनोद प्रसाद, प्रमुख प्रतिनिधि अजय राय, सुनील चौरसिया, धनंजय पाण्डेय, राजकिशोर ¨सह, बिगन मांझी, गजेंद्र ¨सह, विजय ¨सह, श्याम कुमार प्रसाद, लकेश बाबा , अमर नाथ प्रसाद, ललन काका आदि ने मेले के शांतिपूर्ण समापन पर प्रशासन व दर्शकों को बधाई दी।

Posted By: Jagran