छपरा। पूर्वोत्तर रेलवे के छपरा -थावे रेल खंड पर विद्युतीकरण का कार्य बुधवार को पूर्ण करा लिया गया और ट्रेनों के परिचालन के लिए लगाए गए ऊपरीगामी विद्युत तार में विद्युत की प्रवाह 23 जनवरी से शुरू कर दी जायेगी। इस रेलखंड पर राजापट्टी से थावे के बीच पहले ही विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण करा लिया गया है, जिसका मुख्य संरक्षा आयुक्त के द्वारा निरीक्षण भी किया जा चुका है। अब छपरा से राजापट्टी के बीच इस काम को भी पूरा करा लिया गया है, जिसमें विद्युत की आपूर्ति शुरू होने के बाद इस माह में ही मुख्य संरक्षा आयुक्त से निरीक्षण कराए जाने की तैयारी रेलवे प्रशासन ने शुरू कर दी है। छपरा- राजापट्टी रेल खंड पर किलोमीटर संख्या 49- 847 से किलोमीटर 1- 368 तथा खैरा - छपरा ग्रामीण किलोमीटर 10 - 550 से 321- 667.80 खंड पर 23 जनवरी को विद्युत कर्षण तारों में 23 जनवरी से 2200/25000 वोल्ट 50 हर्टज ए.सी.विद्युत प्रवाह शुरू किया जायेगा। रेलवे जनसंपर्क अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि इसके मद्देनजर छपरा- राजापट्टी रेल खंड पर पडने वाले गांवों के लोगों को चेतावनी जारी किया गया है और उनसे अनुरोध किया गया है कि विद्युत कर्षण लाइन को विद्युतमय माना जायेगा और कोई अनाधिकृत व्यक्ति उपरोक्त विद्युत कर्षण लाइन के नजदीक काम करने नहीं जायेगा। ऐसा करना खतरनाक एवं दंडनीय है।

फरवरी के अंत तक इलेक्ट्रिक ट्रेनों का शुरू होगा परिचालन

छपरा - थावे रेल खंड पर फरवरी माह के अंत तक इलेक्ट्रिक ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जायेगा। पहले चरण में माल ट्रेनों को इलेक्ट्रिक इंजन से चलाया जायेगा। जबकि एक पखवाड़े बाद यात्री ट्रेनों को भी इलेक्ट्रिक इंजन से चलाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी । मार्च माह से इस रेलखंड पर ट्रेनों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के लिए रेलवे प्रशासन के पास वर्तमान समय में रेल डिब्बों की कमी है, जिसके चलते वर्तमान समय में चलने वाली दो जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों की फेरा बढ़ाई जाएगी, जिससे आवागमन में यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। साथ ही इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने से ट्रेनों की रफ्तार में भी बढ़ोतरी होगी।

कई ट्रेनों के बदलेंगे मार्ग

छपरा जंक्शन से होकर गुजरने वाली कई ट्रेनों को छपरा- मशरक-थावे- कप्तानगंज होते हुए गोरखपुर के रास्ते चलाए जाने पर रेलवे प्रशासन के द्वारा विचार किया जा रहा है। मार्च माह में छपरा जंक्शन के यार्ड की रिमॉडलिग शुरू कराया जाना है, जिसके वजह से ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन संभावित है। साथ ही नए प्लेटफार्म का निर्माण होगा, जिसके वजह से छपरा जंक्शन से होकर गुजरने वाली ट्रेनों के परिचालन में कठिनाई उत्पन्न होने की आशंका है, जिससे निपटने के लिए छपरा ग्रामीण जंक्शन से खैरा- मशरक- थावे -कप्तानगंज होते हुए गोरखपुर के बीच ट्रेनों का परिचालन किया जा सकता है।

Edited By: Jagran