छपरा। सारण जिले के आठ प्रखंडों में आई बाढ़ से करीब 12 हजार हेक्टेयर की फसल बर्बाद हुई है। जिन किसानों का फसल बर्बाद हुई है उन किसानों को सरकार मुआवजा देगी। ¨सचित भूमि के फसल के लिए 13,500 रुपये तथा अ¨सचित भूमि के फसल के लिए 6800 रुपये मुआवजा दिया जाएगा। इसको लेकर कृषि विभाग ने किसानों को मुआवजा देने के लिए राज्य सरकार से 18 करोड़ रुपये की मांग की है।

विभागीय सूत्रों के मुताबिक कृषि विभाग ने बाढ़ में हुई फसल की क्षति को लेकर किसानों को मुआवजा राशि का भुगतान करने के लिए राशि निर्धारित कर दिया है। सारण तटबंध टूटने से जिले में आई विनाशकारी बाढ़ में पानापुर, मशरक, तरैयां, परसा, अमनौर, दरियापुर, मकेर तथा मढ़ौरा प्रखंड में फसल बर्बाद हुआ है। इस तबाही में 12 हजार हेक्टेयर में लगी धान, गन्ना, सब्जी, अरहर, उरद, मुंग व मडुआ के अलावा गन्ने की फसल को भी नुकसान पहुंचा है। गंडक नदी के प्रकोप से बर्बाद हुई फसल के एवज में किसानों को मुआवजा राशि दिए जाने का सरकार ने निर्णय लिया है। बाढ़ में बर्बाद हुई फसल के अलावा कच्चे व पक्के मकानों की क्षति पर भी प्रभावित परिवार के लोगों को मुआवजा दिया जाना है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक उक्त प्रखंडों में जो फसल बर्बाद हुई है उसका आंकलन का कार्य अभी भी किया जा रहा है। किसानों को मुआवजा राशि का भुगतान करने के लिए जिला कृषि अधिकारी जयराम पाल ने राज्य सरकार से 18 करोड़ रुपये आवंटित करने की मांग की है। ताकि किसानों को फसल राशि का भुगतान किया जा सके। बताया जाता है कि जिले के आठ प्रखंडों में आए भीषण बाढ़ के कारण बर्बाद हुई फसल पर किसानों को प्रति हेक्टेयर 13,500 रुपये का मुआवजा मिलेगा। यह मुआवजा धान, मक्का व सब्जी की खेती को हुए नुकसान पर दिया जाएगा। अलावा इसके गन्ने की फसल को हुए नुकसान पर 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा दिया जाएगा।

इनसेट

किस फसल पर मिलना है कितना अनुदान

फसल अनुदान राशि प्रति हेक्टेयर

धान 13,500

मक्का 13,500

सब्जी 13,500

मूंग 6,800

मड़ुआ 6,800

गन्ना 13,500

केला, अमरूद 18,000

अरहर 6,800

उड़द 6,800

क्या कहते हैं अधिकारी

'जिले के आठ प्रखंडों में आई बाढ़ से फसलों की क्षति हुई है। अभी तक जो आंकलन किया गया है उसमें 12 हजार हेक्टेयर फसल की क्षति हुई है। जिनकी फसल बर्बाद हुई है उनके लिए सरकार ने मुआवजा राशि निर्धारित कर दिया है। सरकार से मुआवजा राशि भुगतान करने के लिए 18 करोड़ रुपये आवंटित करने का अनुरोध किया गया है। राशि मिलने के बाद मुआवजा का भुगतान किया जाएगा।'

जयराम पाल

जिला कृषि अधिकारी, सारण

Posted By: Jagran