- 14 लोगों को सर्विलांस से किया गया बाहर

जासं, छपरा : जिले में 90 संदिग्धों को सर्विलांस पर रखा गया था। उनमें सें 14 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। उन्हें सर्विलांस से हटा दिया गया है। फिलहाल जिले में 76 संदिग्धों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

विदित हो कि एहतियात के तौर पर अन्य प्रदेश एवं विदेशों से लौटने वाले लोगों को सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जा रहा है। वहां से ही अब तक आधा दर्जन संदिग्धों को रेफर किया गया था। जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। जिले में जो लोग अन्य प्रदेशों से अपने घर लौटे हैं, उन्हें एहतियात के तौर पर घर में ही आइसोलेट कर रखा गया है। समय-समय पर उनकी जांच कराकर उनका रिपोर्ट रखी जा रही है। इसके अलावा सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को भी प्रखंडों में सूचना के बाद उन मरीजों की जांच कर उनके घर के कमरे में आइसोलेट किया जा रहा है। गुरुवार को दरियापुर प्रखंड में भी प्रदेशों से पहुंचे 8 संदिग्धों की जांच कर घर पर ही आइसोलेट किया गया है। इस मामले में सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने आइसोलेशन में रखे लोगों की समय-समय पर जांच कराई जा रही है। दिघवारा सीएचसी में नहीं बना आइसोलेशन वार्ड

संसू, दिघवारा : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 24 घंटे व्यवस्था कर दी गई है। बावजूद सीएचसी में न तो गुरुवार को प्रभारी पहुंचे और न ही यहां आइसोलेशन वार्ड ही बनाया गया है। कर्मियों की सुरक्षा के लिए भी यहां उपाय नहीं किए गए हैं। गुरुवार को नगर पंचायत से कोरोना वायरस से दो संदिग्ध को सीएचसी से सदर अस्पताल भेजा गया है। ड्यूटी पर तैनात डा. सुरेश कुमार, डा रविकांत, डा एहसानुल हक व अन्य चिकित्सकों की उपस्थिति में केवल इमरजेंसी रोगी ही देखे गए। डा रविकांत ने बताया कि जांच में प्रथम ²ष्टया लोग सामान्य बुखार व जुकाम से पीड़ित थे। उन्हें आवश्यक दवा देते हुए एहतियातन आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस