छपरा । राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की उच्च स्तरीय बैठक बुधवार को जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में संपन्न हुई।

बैठक में जिलाधिकारी ने बताया गया कि बाढ़ प्रभावित 8 प्रखंडों पानापुर, तरैया, मशरक, अमनौर, दरियापुर, मकेर, परसा एवं मढ़ौरा के 44 पंचायतों के 168 गांवों में 2,12,000 की आबादी बाढ़ प्रभावित है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित परिवारों की संख्या 67,000 है। बाढ़ में डूबकर मरने वालों की संख्या अबतक 12 है। प्रत्येक मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख की अनुग्रह अनुदान की राशि देने की कार्रवाई की जा रही है। अबतक 30,000 फूड पैकेट्स का वितरण हो चुका है। डीएम ने कहा कि अब तक चलाये गये नावों की संख्या 166 है। उन्होंने कहा कि 4,400 फूड पैकेट तैयार किया जा रहा है, जिसमें चावल पांच किलो, दाल एक किलो, आलू दो किलो के अलावा हल्दी तथा नमक के साथ फूड पैकेट का वितरण किया गया है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 14,700 पालीथीन सीट्स का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित परिवारों को जीआर (अनुग्रह अनुदान) की राशि प्रति परिवार 6,000 रूपये भुगतान हेतु सूची का निर्माण लाभुक परिवार के पहचान संख्या एवं बैंक विवरण के साथ तैयार की जा रही है।

बैठक में जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि सभी बैंक के प्रबंधकों के साथ बैठक कर उन्हें निर्देश दिया गया है कि वैसे परिवार जिनका बैंक खाता नहीं खुला है, कैम्प लगाकर खाता खुलवायें, ताकि उनके खाते में जीआर (अनुग्रह अनुदान) की राशि आरटीजीएस के माध्यम से भेजी जा सकें।

बैठक में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने जलजमाव के क्षेत्र में ब्ली¨चग पाउडर के छिड़काव का अनुरोध करते हुए कहा कि जहां -जहां बाढ़ का पानी कम हो रहा है, वहां-वहां प्रतिदिन ब्ली¨चग पाउडर का छिड़काव हो। तरैया विधायक मुद्रिका प्रसाद राय ने कहा कि बाढ़ प्रभावित तरैया पंचायतों में अस्थायी शौचालय की व्यवस्था एवं नियमित ब्ली¨चग पाउडर का छिड़काव हो। उन्होंने कहा कि पीने के लिए अस्थायी चापाकल की व्यवस्था हो तथा तब तक बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत कैम्प को बंद नहीं किया जाय, जब तक राहत की आवश्यकता है।

बैठक में जदयू जिला अध्यक्ष मो. अल्ताफ उर्फ राजू, सीपीआई नेता अरूण कुमार, भाजपा के जिला अध्यक्ष रमेश प्रसाद एवं कांग्रेस के जिला अध्यक्ष प्रो. कामेश्वर ¨सह, राजद के जिला अध्यक्ष जिलानी मोबीन एवं लोजपा नेता बिगन मांझी ने जिलाधिकारी से अनुरोध किया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त पशुचारा की व्यवस्था की जाय। जिलाधिकारी ने जिला पशुपालन पदाधिकारी को पर्याप्त पशुचारा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डा. निर्मल कुमार को निर्देश दिया कि जहां-जहां बाढ़ का पानी घट रहा है, वैसे स्थानों पर नियमित रूप से ब्ली¨चग पाउडर का छिड़काव करायें तथा फूड पैकेट्स के साथ हैलोजन टैबलेट का वितरण करायें। उन्होंने कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमंडल को निर्देश दिया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त संख्या में अस्थायी चापाकल का निर्माण करायें तथा टैंकर के माध्यम से बाढ़ प्रभावितों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराये। उन्होंने राजनीतिक दलों के मांग पर प्रभारी पदाधिकारी आपदा प्रबंधन शिव कुमार पंडित को निर्देश दिया कि पर्याप्त मात्रा में नाव एवं बाढ़ पीड़ितों के लिए तिरपाल की व्यवस्था करायें।

बैठक में जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद के साथ तरैया विधायक मुद्रिका प्रसाद राय, पुलिस अधीक्षक हरकिशोर राय, अध्यक्ष जिला परिषद मीणा अरूण,

एनसीपी के जिला अध्यक्ष शैलेन्द्र प्रसाद मिश्रा, प्रभारी पदाधिकारी आपदा प्रबंधन शिव कुमार पंडित, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी अनिल कुमार चैधरी सहित सभी तकनीकी एवं संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran