समस्तीपुर,जागरण संवाददाता। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के केवस निजामत पंचायत अंतर्गत केवस जागीर गांव में गुरुवार की सुबह खेत में छिड़काव करने जा रहे 26 वर्षीय युवक की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। मृतक की पहचान गांव के ही वार्ड 9 निवासी किसान रामसकल महतो के 26 वर्षीय पुत्र प्रवीण कुमार के रूप में हुई है। ग्रामीणों ने तत्काल स्थानीय पुलिस को इस घटना की सूचना दी। पुलिस ने घटना की जांच की। इसके बाद सदर अस्पताल में शव पोस्टमार्टम कराया गया।

बताया जाता है कि केवस जागीर गांव के वार्ड 09 निवासी प्रवीण कुमार खेती किसानी का काम करते थे। मृतक के पिता ने बताया कि गुरुवार सुबह प्रवीण घर से स्प्रे मशीन लेकर पैदल माधोपुर छतौना गांव स्थित बैंगन के खेत में छिड़काव के लिए निकला। करीब दस बजे स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा घटना की जानकारी मिली। खेत की ओर जा रहे ग्रामीणों ने रास्ते में प्रवीण को बेसुध जमीन पर पड़ा देखा और तत्काल उसके स्वजनों को जाकर घटना की जानकारी दी।

परिजनों ने नहीं लगाया हत्या का आरोप

स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से प्रवीण को उठाकर वाहन से सदर अस्पताल पहुंचे। जहां स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत मृत घोषित कर दिया। घटना से सभी ग्रामीण हतप्रभ हैं। मृतक के शरीर पर कोई जख्म या चोट के निशान नहीं है। फिलहाल, हत्या की कोई आशंका व्यक्त नहीं की गई है। इधर, सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने मृतक के स्वजनों से घटना के संबंध में पूछताछ की। थानाध्यक्ष प्रवीण मिश्रा ने बताया कि सदर अस्पताल में अंत्यपरीक्षण के उपरांत शव स्वजनों को सौंप दिया गया है। फिलहाल, मौत का कोई कारण स्पष्ट नहीं है।

घटना से हतप्रभ ग्रामीण, गम में डूबा परिवार

केवस जागीर निवासी रामसकल महतो के बड़े पुत्र प्रवीण कुमार पर ही घर गृहस्थी की जिम्मेदारी थी। परिवार में बूढे पिता-माता, दो छोटा भाई, पत्नी और दो बच्चा है। पूरे परिवार का बोझ प्रवीण के कंधे पर था। परिवार के सभी लोग मिलजुल कर खेती किसानी का काम करते थे। जिससे परिवार का भरण पोषण होता था। करीब पांच वर्ष पूर्व प्रवीण की शादी हुई थी।

अचानक हुई इस घटना के बाद परिवार पर विपत्ति की पहाड़ टूट पड़ा है। स्वजनों ने बताया कि प्रवीण शरीर से चुस्त दुरुस्त था। उसे पहले से कोई बीमारी भी नहीं थी। किसी से कोई दुश्मनी नहीं था। सूचना मिलते ही स्थानीय जीप सदस्य अजहर आलम, मुखिया राजीव कुमार, रवि कुमार समेत स्थानीय ग्रामीणों ने मृतक के स्वजनों से मिलकर ढ़ांढस बंधाया।

Edited By: Umesh Kumar