समस्तीपुर। चुनाव को लेकर जिला प्रशासन की ओर से तैयारी तेज कर दी गई। नाम वापसी के बाद से इस कार्य में तेजी आ गई है। 29 अप्रैल को समस्तीपुर सुरक्षित और उजियारपुर लोकसभा क्षेत्र में लोकसभा चुनाव को लेकर मतदान होना है। इस वजह से प्रशासन ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। ईवीएम में उम्मीदवारों का नाम और चुनाव चिह्न के साथ उसका बटन सेट करने का कार्य चल रहा है। इस कार्य में कई कर्मियों को लगाया गया है। बता दें कि इस बार उजियारपुर से लोकसभा चुनाव में 18 प्रत्याशी मैदान में है। एक ईवीएम में अधिकतम पंद्रह प्रत्याशी और एक नोटा का बटन रहता है। ऐसे में उजियारपुर लोकसभा क्षेत्र का जो ईवीएम होगा, उसमें दो ईवीएम को एक साथ जोड़ा जाएगा। 18 प्रत्याशी एवं एक नोटा का बटन सेट किया जाएगा। जबकि समस्तीपुर सुरक्षित लोकसभा क्षेत्र में इस बार लोकसभा चुनाव में 11 प्रत्याशी मैदान में है। इस वजह से यहां एक ईवीएम से ही काम चल जाएगा। राष्ट्रीय पार्टी के प्रत्याशियों का रहता है सबसे ऊपर नाम

ईवीएम में राष्ट्रीय पार्टियों के नाम ऊपर रहते हैं। उसके बाद क्षेत्रीय पार्टियों और निर्दलीय प्रत्याशियों के नाम रहते हैं। निर्वाचन आयोग द्वारा पहले से ही इसको लेकर निर्देश दिया जा चुका है। ईवीएम में इसी तरह से सेटिग की जाती है। ईवीएम और पेपर सिलिग कार्यों को दिया जा रहा अंतिम रूप ईवीएम को पूरी तरह से तैयार करने में ईवीएम कोषांग जुटा हुआ है। प्रत्येक ईवीएम को पूरी तरह चेक करने के बाद ही उसमें उम्मीदवारों का नाम, चुनाव चिह्न के सामने उसका बटन अंकित किया जा रहा है। जिससे मतदान के दिन किसी प्रकार की परेशानी नही हो। ईवीएम को सील करने का काम भी चल रहा है। चुनाव कर्मियों को दिया गया द्वितीय प्रशिक्षण

शहर से सटे सुंदर उच्च विद्यालय मुक्तापुर में मतदान कर्मियों को द्वितीय प्रशिक्षण बुधवार को दिया गया। प्रशिक्षण कोषांग के वरीय पदाधिकारी सह जिला भूअर्जन पदाधिकारी अरविद कुमार झा की निगरानी में प्रथम पाली में पीठासीन पदाधिकारियों एवं दूसरी पाली में प्रथम मतदान पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण के माध्यम से उनके दायित्व एवं कर्तव्यों को बताया गया। मतदान के दिन किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसको लेकर सभी कर्मियों को पूरी गंभीरता से प्रशिक्षण लेने को कहा गया। राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर मुकेश कुमार ने मतदान कर्मियों को बारीकि से जानकारी दी। ट्रेनर सतीश कुमार, अरविद कुमार, तनवीर आलम,राजीव कुमार, राकेश कुमार, व्रजदेव बली प्रसाद वर्मा, मधुप कुमार, राम दयाल सिंह, राज कुमार पासवान आदि ने प्रशिक्षण दिया।

Posted By: Jagran