समस्तीपुर। आजादी के अमृत महोत्सव पर घर-घर तिरंगा फहराने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर झंडे की मांग काफी बढ़ गई। स्वतंत्रता दिवस को लेकर तिरंगे की मांग बढ़ने का अनुमान इससे लगाया जा सकता है। सभी चाहते हैं कि वे भी अपने घरों पर तिरंगा फहराएं। लोग दुकानों में झंडा खरीदारी करने को लेकर पहुंचे लेकिन रविवार को दो बजे के बाद तिरंगा झंडा आउट आफ मार्केट हो गया। लोग इस दुकान से उस दुकान दौड़ते रहे लेकिन लोगों को तिरंगा झंडा नहीं मिल सका। दुकानदारों का कहना था कि पहले की अपेक्षा पचास प्रतिशत झंडे का स्टाक रखा था लेकिन दो बजे तक झंडा खत्म हो गया। देर शाम तक सैकड़ों लोग झंडा के लिए दुकान पर पहुंचे लेकिन उन्हें निराश होकर लौट जाना पड़ा। समस्तीपुर के 395 डाकघरों में बिका 19 हजार 215 तिरंगा झंडा, 4.80 लाख रुपये की प्राप्त हुई आय

जिले के प्रधान डाकघर सहित अन्य डाकघरों में 19 हजार 215 झंडों की बिक्री हो गई। इससे डाक विभाग को चार लाख 80 हजार 375 रुपये की आय प्राप्त हुई। सिर्फ प्रधान डाकघर में 13 हजार 405 तिरंगा बेचा गया। एक तिरंगा 25 रुपये में बिकी। डाकघर में स्टाक खत्म होने के बाद मांग करने पर मुख्यालय से भी आपूर्ति नहीं हो सकी। इस स्थिति में डाक कर्मियों को खुद बाजार से तिरंगा की खरीदारी करनी पड़ी। वहीं, रविवार की संध्या बाजार में भी तिरंगा झंडा खरीदने पहुंचने लोगों को मायूस होकर लौटना पड़ा। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिले में 23 हजार 215 तिरंगा झंडा आवंटित किया गया था। मुख्यालय स्तर से दबाव के कारण चार हजार झंडा सहरसा भेज दिया गया। आजादी के अमृत महोत्सव पर मजदूर संघ ने निकाली तिरंगा यात्रा

आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर पूर्व मध्य रेल मजदूर संघ ने तिरंगा यात्रा निकाली। तिरंगा यात्रा विद्युत लोको शेड से प्रारंभ होकर गोल्फ फिल्ड रेलवे कालोनी, माधुरी चौक, रेलवे चिकित्सालय, यांत्रिक कारखाना से गगन भेदी नारा भारत माता की जय, वंदे मातरम आदि नारा लगाया। इसमें संघ के महामंत्री डा. जितेंद्र कंचन, मंडल मंत्री महेश कुमार, शैलेंद्र कुमार, आनंद वर्मा, अजय कुमार सिन्हा, राहुल , रंजीत कुमार राय, हरि राम, युवराज कुमार आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran