समस्तीपुर । खानपुर प्रखंड की जहांगीपुर पंचायत में समस्याओं की पड़ताल को लेकर दैनिक जागरण की टीम ने पहुंचकर चौपाल का आयोजन किया। लोगों ने खुलकर अपनी बातें रखीं। पंचायत में हो रहे विकास की बात तो लोग कबूल कर रहे हैं, लेकिन यह भी कहते हैं कि यहां कई समस्याएं है, जिसका हल होना चाहिए। चौपाल में उपेंद्र प्रसाद सिंह, शिवजी साह, विजय कुमार सिंह, राज कुमार सिंह, फूल सिंह, आलम, रमेश कुमार सिंह, सुनील पासवान, रोशन झा, डॉ. कमलाकांत झा, रामचंद्र महतो, राम नारायण महतो, डॉ. रतन लाल गुप्ता सहित दर्जनों ग्रामीणों ने समस्याओं से अवगत कराया। ग्रामीणों ने यह भी कहा कि पंचायत का विकास तेजी से हो रहा है। लेकिन बहुत सारी समस्याओं का समाधान होना अभी बाकी है। कहते हैं लोग

फोटो : 13 एसएएम 29

विद्यालय में छात्रों के अनुपात में शिक्षकों की पोस्टिग होनी चाहिए। ऐसा नही होने से छात्रों को सही से पढाई-लिखाई नही हो पाती है। यह छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। वर्षो से बंद पड़े सरकारी बोरिग को चालू कराना चाहिए, जिससे सिचाई की सुविधा लोगों को मिल सके।

शिवजी साह, ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 30

पंचायत ओडीएफ हो गया। 90 प्रतिशत घरों में शौचालय बन चुका है। फिर भी लोग खेतों में शौच के लिए जाते हैं। लोगो को आदत बदलनी होगी। उन्हें जागरूक करना होगा। सोच बदलेगा, तभी विकास होगा।

विजय कुमार सिंह, ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 31

सरकार किसानों के साथ नाइंसाफी कर रही है। किसानों द्वारा उत्पादित आनाज का सही मूल्य निर्धारित नही कर रही है। किसान अपना उपजाया हुआ आनाज औने-पौने भाव मे बेचकर संतोष कर रही है। जिसके कारण किसानों की माली हालत खराब हो रही है।

राज कुमार सिंह,ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 32

जहांगीरपुर पंचायत एक ऐसा पंचायत है, जहां 80 प्रतिशत किसान हरी सब्जियों की खेती करते हैं। यहां से प्रतिदिन 10 से 15 पिकअप गाड़ी से बाहर हरी सब्जियां भेजी जा रही है। फिर भी किसानों की माली हालत अच्छी नहीं हो पा रही है। क्योंकि उत्पादित सब्जी का सही मूल्य नही मिल पा रहा है।

फूल सिंह,ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 33

बीपीएल त्रुटि के कारण करीब 500 परिवारों को सरकारी अनाज से वंचित होना पड़ रहा है। वर्षो से पेंशनभोगी लाभुकों को तीन वर्षों से पेंशन नहीं मिल रही है। लाभुक प्रखंड का चक्कर काट रहे हैं।

आलम, ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 34

बेरोजगारी की समस्या काफी बढ़ गई है। इस पंचायत में करीब 200 ग्रेजुएट छात्र-छात्राएं मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते है। भ्रष्टाचार बढ़ गया है।

रमेश कुमार सिंह,ग्रामीण फोटो : 13 एसएएम 35

इस पंचायत में 80 पशुपालक किसान हैं। किसानों को नकदी इनकम का एकमात्र यह साधन है। पशुपालक किसानों द्वारा उत्पादित दूध का मूल्य पानी से कम है। जिसके कारण पशुपालक किसानों की माली हालत दिनोंदिन ़खराब होती जा रही है। बिहार सरकार किसानों के साथ नाइंसाफी कर रही है।

सुनील पासवान, ग्रामीण

फोटो : 13 एसएएम 36

वे अपने स्तर से किसानों को मिलने वाली हर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए हमेशा से प्रयासरत रहे हैं। समय-समय पर रसायनिक खाद, बीज आदि उपलब्ध कराया जाता है। धान, गेहूं खरीदकर उनकी माली हालत में सुधार करने के लिए हरवक्त वे तत्पर रहते हैं।

चंद्रभूषण कुमार गुप्ता, पैक्स अध्यक्ष फोटो : 13 एसएएम 37

पंचायत में विकास की गति अच्छी है। इसी रफ्तार से कार्य होते रहे तो ढेर सारी समस्याओं का हल हो जाएगा।

संजय पासवान,ग्रामीण वर्जन :

फोटो : 13 एसएएम 38

मैं अपने ससूर स्व.राम विलास महतो के द्वारा लगातार 15 वर्षो तक किए गए पंचायत के विकास कार्यों को आगे बढा रही हूं। जो भी शेष कार्य हैं, उन सभी को पूरा करने के प्रति वे तत्पर हैं। अधिकांश वार्डों में नल जल का कार्य पूरा हो चुका है। एक-दो वार्ड में कार्य तेजी से प्रगति पर है। दर्जनों सड़क, पुल पुलिया,पीसीसी सड़क,आवास, मवेशी शेड का निर्माण आदि कराए गए हैं।

मंजू देवी,मुखिया एक नजर में पंचायत

पंचायत में वार्ड--11

आबादी--12 हजार

मध्य विद्यालय ----4

प्राथमिक विद्यालय--03

उच्च विद्यालय--1

आंगनबाड़ी केंद्र संचालित---11

भवनहीन आंगनबाड़ी केंद्र---07

पंचायत भवन---1

स्वास्थ्य केंद्र---1

पैक्स भवन---1

पंचायत सरकार भवन---0

-------------------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस