समस्तीपुर। पूर्व मध्य रेल समस्तीपुर मंडल के मोतिहारी-रक्सौल रेलखंड और स्टेशनों पर मंगलवार को मंडल रेल प्रबंधक उड़नदस्ता टीम ने सघन जांच अभियान चलाया। इसमें बेटिकट यात्रियों व अनबुक मामलों में 183 यात्रियों से 26090 रुपये जुर्माना वसूल किया। नेतृत्व समस्तीपुर मंडल के सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेंद्र कुमार ने किया। मंडल रेल प्रबंधक र¨वद्र कुमार जैन और वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक बिरेंद्र कुमार के निर्देश पर टीम ने स्टेशन परिसर और गुजरने वाली ट्रेनों में छापेमारी की। इससे बेटिकट यात्रा करने वाले यात्रियों, एमएसटी की तिथि समाप्त रहने वालों के बीच हड़कंप मच गया। इस दौरान बिना टिकट यात्रा करने वाले 77 यात्रियों को पकड़ा गया। जिनसे जुर्माना के रूप में 20,790 रुपये वसूल की गई। जबकि, ट्रेनों में अनबुक 106 मामले पकड़े गए। जिनसे 5300 रुपये की वसूली की गई। उड़न दस्ता टीम के जांच से बेटिकट यात्रियों पर लगाम लगेगी। साथ ही अनारक्षित टिकट काउंटर से टिकट बिक्री में बढ़ोत्तरी होगी। विदित हो कि समस्तीपुर रेल मंडल में टीसी आय एवं ¨वडो सेल में हो रहे ह्रास की क्षतिपूर्ति के उद्देश्य से तथा रेल आय के लक्ष्य को पूरा करने के लिए रेलवे ने नया कदम उठाया है। वाणिज्य विभाग के नन-टिकट चे¨कग कर्मचारियों को डीआरएम उड़नदस्ता के रूप में कार्य करने के लिए शामिल किया है। रेलवे अपनी आमदनी बढ़ाने का उपाय कर रही है। इसलिए रेल प्रशासन ने बेटिकट यात्रियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है। इससे एक तरफ जहां रेलवे का राजस्व बढ़ेगा वहीं दूसरी ओर वैध टिकट लेकर यात्रा करने वाले यात्रियों को भी सुविधा होगी। अक्सर बेटिकट यात्री आरक्षित कोच में सवार हो जाते हैं, जिससे अन्य यात्रियों को असुविधा होती है। टीम में मुख्य वाणिज्य निरीक्षक गणेश कुमार भगत, मुख्य कार्याधी कपलेश्वर राम, कार्याधी राज कुमार साह, हरिहर साहू, रक्सौल डीसीआई वरुण कुमार ¨सह, नीरज राज, धीरज कुमार, अर्जुन बैठा, शिवानंद राय, दीप नारायण ¨सह, राम नरेश राय, धर्मवीर यादव आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran