समस्तीपुर। नगर परिषद के अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष की कुर्सी का खेल दांव-पेंच में उलझती जा रही है। कुर्सी को लेकर चुनाव की तिथि का काउंटडाउन अंतिम कगार पर है। महज 72 घंटे बाद शक्ति परीक्षण होगा। दोनों पदों के लिए खूब मगजमारी हो रही है। गेंद किसने पाले में जाएगा यह तो 9 जून को मतगणना परिणाम के बाद तय होगा, लेकिन पद के प्रत्याशी तथा नप की राजनीति के दिग्गज ऐड़ी-चोटी एक किए हुए है। जीत के लिए हर हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। जीत के लिए प्रत्याशी हर रास्ते की पूरी तैयारी कर चुके हैं। ¨कग मेकर भी पूरी तरह सक्रिय हैं। रणनीति के तहत भोज का भी आयोजन चल रहा है। हालांकि अभी तक पूरा राजनीतिक परिदृश्य खुल कर सामने नहीं आ पाया है। मैदान में कई उम्मीदवार अपना भाग्य आजमाने में लगे हैं। कुल 29 वार्ड के पार्षद इस उधेड़बुन में है कि वे किसे अपना वोट देकर अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाएंगे ।

सूत्रों की माने तो तो लगभग आधा दर्जन प्रत्याशी अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष की दावेदारी कर रहे हैं। उनके राजनीतिक आकाओं के लिए भी यह सब परेशानी का सबब बना हुआ है। वे किसके ऊपर अपना दांव लगाएं ताकि उनकी मन पसंद उम्मीदवार अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पद की कुर्सी पर बैठ सके,लेकिन इस प्रकार की उम्मीद पर उनके भी पसीने छूट रहे हैं। वे चाहकर भी सटीक निशाना लगाने में विफल नजर आ रहे हैं। संख्या बल उनके सामने विषम चुनौती बनी हुई है। अध्यक्ष बनने की इच्छा सभी नवनिर्वाचित वार्ड पार्षद बनाए हुए हैं, लेकिन संख्या बल तथा चुनौती के बावजूद किसी एक को अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष की कुर्सी मिलेगी। देखना यह है कि पूरे प्रकरण से अलग हट कर कौन इस कुर्सी को सुशोभित करता है।

चल रहा गुटबाजी का खेल

जिप अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पद को लेकर वार्ड पार्षदों के बीच गुटबाजी का खेल भी चरम पर है। कुछ जातीय आधार पर भी समीकरण तैयार करने में लगे हैं। इस बार 29 वार्ड में 15 महिलाएं ही जीती है। इस कारण दौर में महिलाएं भी पीछे नहीं है। चुनाव को लेकर गुटों के बीच भी खूब खींचतान का खेल जारी है। हारे भी दिग्गज भी पर्दे के पीछे से तोड़-जोड़ में लगे हैं। कई ¨कग मेकर बटुआ खोले बैठे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप