समस्तीपुर। दलसिंहसराय थाना क्षेत्र के अजनौल गांव में शुक्रवार की देर शाम ई- रिक्शा की बैटरी की चोरी कर बेचने जा रहे कतिथ चोर को ई रिक्शा मालिक ने ग्रामीणों के सहयोग से पकड़ लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने उसे एक ़खंभे से बांधकर बड़ी बेरहमी से घंटों जमकर मारपीट करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने भी ई रिक्शा मालिक से आवेदन लेकर कथित भटगामा गांव के वार्ड- दो निवासी महाकान्त मिश्रा के पुत्र कन्हैया मिश्रा को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। पुलिस को दिए गए आवेदन में ई रिक्शा के मालिक अजनौल निवासी प्रमोद राम ने बताया हैं कि 28 जून की रात्रि वह अपना ई रिक्शा को घर के बाहर लगाकर सोने चला गया। अगली सुबह जब उठा तो रिक्शा उस जगह पर नहीं थी। खोजबीन करने पर 20 नंबर रेल पुल के पास आम गाछी में ई रिक्शा खड़ी पाई गई। परन्तु ई रिक्शा की चार बैटरी और चार्जर गायब था। जिसकी कीमत 40 हजार से ऊपर है। आसपास से पता चला कि भटगामा वार्ड संख्या दो निवासी महाकान्त मिश्रा का पुत्र कन्हैया मिश्रा ने ही चोरी की थी। जब उससे पूछताछ की गई तो वह बैटरी और चार्जर चोरी करने की बात से इनकार कर गया। शुक्रवार की देर शाम 7 बजे के आसपास ग्रामीणों द्वारा सूचना मिली कि कन्हैया टेम्पू पर उसका 4 बैटरी लादकर कहीं जा रहा था। जिसे ग्रामीणों के सहयोग से पकड़ लिया। बैटरी का नंबर मिलान करने पर वह बैटरी उसका ही था।

वही आक्रोशित ग्रामीणों ने उसे पकड़ कर गांव में ही एक खम्भे से बांध दिया और जमकर धुनाई की। ग्रामीणों का कहना था कि वह अन्य साथियों की मदद से चोरी की घटना को अंजाम देता है। चोरी की गई सामान को दूसरी जगहों पर बेच देता है ताकि वह पकड़ा न जाए। इस दौरान सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ उसे देखने के लिए जुट गई। वही सूचना पर पहुंची पुलिस उसे पकड़कर अपने साथ ले गई। थानाध्यक्ष कुमार ब्रजेश ने बताया कि कागजी करवाई के बाद जेल भेजा जाएगा।

Edited By: Jagran