समस्तीपुर। चांदपुर धमौन के भूंजा व्यवसायी ने बुधवार को अपने अपहरण की प्राथमिकी पटोरी थाने में दर्ज कराई है। चिटू कुमार ने दर्ज अपहरण की प्राथमिकी में कहा है कि रात लगभग 8 बजे अपनी भूंजा की दुकान बंद कर अपने परिचित रोहित कुमार राय की बाइक पर बैठकर घर लौट रहा था। रास्ते में ट्रांसफार्मर के समीप एक बोलेरो पर सवार तीन-चार नकाबपोश अपराधी ओवरटेक कर उनकी बाइक को रोका और उसे बोलेरो में जबरन बैठाया कर ले गए। अपराधियों ने उसके हाथ- पैर और आंखों को बांध दिया। काफी दूर ले जाने के बाद लोगों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही पटोरी थाना के थानाध्यक्ष मुकेश कुमार अपने बल के साथ छापेमारी शुरू कर दी। बाद में अपहरणकर्ताओं ने उसे रात बारह बजे वैशाली जिले के महनार थाना स्थित अल्लीपुर गांव के एक बगीचे में मुक्त कर दिया। वह किसी तरह हाथ -पैर मुंह खोल कर अपने घर लौट आया। दर्ज प्राथमिकी में कहा है कि उसे न तो किसी से दुश्मनी थी और न फिरौती की मांग की गई। उससे पूछताछ की जा रही है। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि वह कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों और अपहरण के कारणों को छिपा रहा है, जिससे मामला संदेहास्पद प्रतीति होता है। मामले की तफ्तीश शुरू कर दी गई है। तीन युवकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार मोरवा। हलई ओपी के मालपुर एवं जोरपुरा निवासी तीन युवकों को हलई पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है। बताया जाता है कि रात्रि गश्ती के दौरान दो युवक सड़क पर घूमते पाए गए। नशा पान की आशंका पर पुलिस दोनों युवकों को थाने पर ले आयी। इससे आक्रोशित होकर तीसरे युवक ने पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए युवकों को निरापराध बताते हुए मालपुर चौक के निकट पुलिस गाड़ी को देखते ही विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस के अनुसार विरोध करने वाले युवक का पटोरी अनुमंडल अस्पताल भेजकर नशा पान का परीक्षण कराया गया जिसमें इसकी पुष्टि हुई। गिरफ्तार युवकों की पहचान प्रभात कुमार, गुड्डू कुमार एवं रौशन कुमार के रूप में की गई है। हलइ ओपी पुलिस के अनुसार गिरफ्तार युवकों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

Edited By: Jagran