समस्तीपुर । जिला पुलिस की डीआइयू की विशेष टीम के साथ हसनपुर और सिंघिया पुलिस को खास सफलता मिली है। रोसड़ा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सहरियार अख्तर के नेतृत्व में हसनपुर और सिघिया थानाध्यक्ष तथा डीआइयू की विशेष टीम ने लूटकांड की घटना को अंजाम देने वाले संगठित गिरोह के चार शातिर को हथियार समेत गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपितों के पास से एक देसी कट्टा, दो कारतूस, एक चोरी की बाइक, पांच मोबाइल और 2 हजार 2 सौ रुपये नकद बरामद हुए।

बुधवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में एसपी विकास वर्मन ने प्रेस वार्ता कर मामले का पर्दाफाश किया। उन्होंने बताया कि तकनीक और वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर आरोपितों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपित हसनपुर और सिघिया थाना अंतर्गत लूटकांड की घटना को अंजाम देने वाले एक संगठित गिरोह के सदस्य हैं। गिरफ्तार आरोपितों की पहचान बिथान के सखवा निवासी कपिल साह के पुत्र लाल विजय साह और रौदी मुखिया के पुत्र रमेश मुखिया, हसनपुर थाना के सुरहा निवासी राम प्रवेश यादव के पुत्र मनीष कुमार और बच्ची लाल यादव के पुत्र रंधीर कुमार के रूप में हुई है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। छापेमारी दल में पुलिस निरीक्षक संजय कुमार, हसनपुर थानाध्यक्ष चंद्रकांत गौरी, सिघिया थानाध्यक्ष पंकज कुमार समेत डीआइयू की टीम शामिल थी। गिरफ्तार आरोपितों का आपराधिक इतिहास

1. हसनपुर थाना कांड संख्या 240/19 : 15 नवंबर को थाना क्षेत्र के काले ढाबा के समीप पूर्व सैनिक से बाइक, मोबाइल और रुपया लूट लिया।

2. सिघिया थाना कांड संख्या 168/19 : 7 नवंबर को थाना क्षेत्र के कुंडल ढाला के पास एक सीएसपी संचालक से 73 हजार नकद और मोबाइल लूट लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस