पूसा, संस : स्थानीय थाना क्षेत्र के बिरौली चौक स्थित गल्ला व्यवसायी ब्रजकिशोर साह के अपहृत पुत्र का चौथे दिन भी सुराग नहीं मिल सका है। जबकि पुलिस के द्वारा लगातार संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। इस मामले में अपहृत के चाचा सहित एक युवक को पूछताछ के लिए पुलिस ने हिरासत में लिया है। अपहृत का मोबाइल भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। इधर, बुधवार को अपहृत युवक दीपक की माता सकूना देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। उसे यह समझ नहीं आ रहा है कि वह अपने सुहाग की रक्षा का पर्व तीज करे कि अपने इकलौते पुत्र की बरामदगी के लिए ईश्वर से प्रार्थना करे। पूरा परिवार एवं आसपास के सगे संबंधी भी दीपक की सकुशल बरामदगी के लिए ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं। अपहृत दीपक के पिता ब्रजकिशोर साह उर्फ बिरजू को दो पुत्री एवं एक पुत्र दीपक है। पुत्री पायल कुमारी एवं प्रिया कुमारी दोनों दीपक से छोटी है। वह दोनों बहने भी अपने भाई के सकुलशल आने को लेकर राह देख रही है। परिवार का इकलौता पुत्र के अपहरण से पूरा परिवार गम में डूबा हुआ है। बता दें कि दीपक 9 सितंबर की रात लगभग 8:00 बजे अपने घर से आधा किलोमीटर दूर अपने चाचा को खाना देने गया था। चाचा को खाना को देने के बाद वह घर नहीं लौटा। प्रशासन को इसकी सूचना दी गई ¨कतु प्रशासन के द्वारा त्वरित कार्रवाई नहीं की गई। यदि त्वरित कार्रवाई की गई होती तो, दीपक अब तक बरामद कर लिया गया होता। हालांकि पुलिस ने उसी रात दीपक की साइकिल बरामद कर ली थी। उसके कुछ लोकेशन भी प्रशासन को मालूम चल गए थे। इसी बीच थानाध्यक्ष सुमित कुमार को सस्पेंड कर दिया गया। नए थाना अध्यक्ष की नियुक्ति की गई। लेकिन अब तक प्रशासन के द्वारा उसे बरामद नहीं किया जा सका है। बता दें कि अपहृत दीपक के पिता बिरौली चौक पर गल्ला का व्यवसाय करते हैं।

Posted By: Jagran