समस्तीपुर । जिले की कई पंचायतों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे लोग वहां से भाग गए हैं। ऐसे लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। यह निर्देश डीएम ने सभी बीडीओ, सीओ एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को दिया है। वहीं साधारण खांसी, बुखार, सर्दी आदि का इलाज करने के लिए रजिस्टर्ड डॉक्टरों से संपर्क स्थापित करने को कहा है। बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने यह आदेश दिया। डीएम ने कहा कि क्वारंटाइन कैंपों से जो लोग भाग गए हैं और वे वापस नहीं आते हैं तो उन पर इपिडेमिक एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराएं। यह निर्देश सभी सीओ को दिया गया है। जिलाधिकारी ने सभी पीएचसी प्रभारी को रजिस्टर्ड प्राइवेट डॉक्टर से संपर्क स्थापित करने का निदेश दिया। संपर्क स्थापित कर वैसे लोग जिन्हें सर्दी, खासी बुखार के लक्षण हैं, उनकी जानकारी प्रशासन को दें। उनकी जांच कराई जाएगी। जिलाधिकारी ने जिले में आग से होने वाली क्षति की प्रखंडवार जानकारी ली। इससे संबंधित राहत कार्यो की समीक्षा की और दिशा निर्देश दिए। नल का जल योजना के कार्य को आवश्यक सेवा के अंतर्गत शामिल किया गया है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को नल-जल योजना के कार्य को जल्द से जल्द कराने के लिए तैयार रहने का निदेश दिया। बैठक में कोषांगों के प्रभारी पदाधिकारी, सदर अनुमंडल पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, सिविल सर्जन, नजारत उप समाहर्ता, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, डीपीओ आइसीडीएस, जिला कृषि पदाधिकारी समेत अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस