पूसा। नई शिक्षा नीति वापस लेने, देश में समान शिक्षा प्रणाली लागू करने, मर्जर के नाम पर स्कूल-कॉलेजों को बंद कर प्राइवेट संस्थानों को बढ़ावा देने पर रोक लगाने, शिक्षा में भेदभाव बंद करने, बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ नहीं करने सहित अन्य कई मांगों को लेकर आइसा कार्यकर्ताओं ने बुधवार को पूसा में शारीरिक दूरी बनाकर प्रतिवाद मार्च निकाल प्रदर्शन किया। मार्च पूसा पोस्ट ऑफिस चौक से आरंभ हुई और उमा पांडेय कॉलेज के निकट पहुंचकर सभा में तब्दील हो गई। सभा की अध्यक्षता आइसा प्रखंड अध्यक्ष रौशन कुमार ने की। संचालन भाकपा-माले प्रखंड सचिव अमित कुमार ने किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की। सभा को संबोधित करते हुए आइसा प्रखंड अध्यक्ष रौशन कुमार ने कहा कि पूरे देश में समान शिक्षा प्रणाली लागू होनी चाहिए। शिक्षा में भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा से खिलवाड़ देश के भविष्य से खिलवाड़ है। भाकपा-माले प्रखंड सचिव ने कहा कि नई शिक्षा नीति शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी विनिवेश को कम करेगी और बड़ी व्यापारिक पूंजी के निवेश के लिए दरवाजे खोलेगी। मौके पर माले प्रखंड कमेटी सदस्य महेश सिंह, उमा पांडेय कॉलेज कोषाध्यक्ष दीपक कुमार, सुधांशु कुमार, मनीष कुमार, रोशन कुमार, सूरज कुमार, राहुल कुमार यादव, दिलीप राजा, प्रवीण कुमार, अमन कुमार आदि मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप