समस्तीपुर । रेलवे सुरक्षा बल ने कार्यक्रम संवाद के तहत सोमवार को शहर के एक निजी विद्यालय में जागरूकता अभियान चलाया। स्कूली छात्र-छात्राओं को सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं की जानकारी दी गई। इस दौरान एक सभा हुई। सभा को संबोधित करते हुए सहायक सुरक्षा आयुक्त अजीत कुमार शाही ने कहा कि रेल यात्रा के दौरान अक्सर यात्रियों का सामना अप्रिय परिस्थितियों से हो जाता है। लेकिन, जरा सी समझदारी दिखा कर लोग इस परिस्थिति से बच सकते हैं। यात्रियों को अनजान लोगों से मेलजोल बढ़ाने से परहेज करना चाहिए। वहीं किसी का दिया हुआ खाने से भी यह सोच कर परहेज करना चाहिए कि यात्रा के अल्प समय में किसी को आप से अतिशय लगाव कैसे हो सकता है। यह लगाव सामान्य भी हो सकता है। कोई जरूरी नहीं कि खुद को खतरे में डाल कर व्यवहारिकता निभाई जाए। सबसे बड़ी बात यह कि आपात की स्थिति में सुरक्षा जवानों की मदद अवश्य लेनी चाहिए। श्री शाही ने बच्चों को रेल सुरक्षा व संरक्षा के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि बिना कारण ट्रेन में वैक्यूम नहीं लगाना चाहिए। साथ ही कहा कि ट्रेन के पायदान पर खड़ा होकर या लटक कर यात्रा करना खतरे से खाली नहीं है। इसमें हमेशा जान जाने की आशंका बनी रहती है। साथ ही कहा कि किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न होने आरपीएफ हेल्पलाइन संख्या 182 पर भी कॉल कर मदद ले सकते है। मौके पर आरपीएफ इंस्पेक्टर आलम अंसारी, सब इंस्पेक्टर चंदन कुमार सिंह, हेड कांस्टेबल अशोक कुमार, विनय कुमार राम, कांस्टेबल अली हसन, रामचरित्र राम, वीरेंद्र कुमार आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस