समस्तीपुर । शहर के आरएसबी इंटर विद्यालय प्रांगण में सोमवार से पांच दिवसीय ऑनलाइन राज्य स्तरीय कला उत्सव का आयोजन किया गया। इसमें जूम एप के माध्यम से राज्य स्तर प्रतिभागियों की प्रस्तुति देखी गई। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सर्व शिक्षा अभियान शिवनाथ रजक के निर्देशन में आयोजित कार्यक्रम के पहले दिन सोमवार को शास्त्रीय संगीत (गायन) में जिला स्तर पर चयनित इंटर किसान उच्च विद्यालय मोरसंड की छात्रा अंजली कुमारी ने राग में झनन-झनन तारी बाजे पायलिया गाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दी। साथ ही द्विआयामी में ²श्यकला में यूएमयू ढढि़या मुरियारो की छात्रा जुली कुमारी ने अपनी ²श्यकला से सभी को प्रभावित किया। प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए मनीष चंद्र प्रसाद एवं संगीत शिक्षक मंगलेश कुमार सहयोग कर रहे थे। मौके पर सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी रमण कुमार पासवान, राजीव कुमार आदि उपस्थित रहे। लाइव जूम वीडियो कॉल के माध्यम से राज्य स्तर से हुई निगरानी :

कला उत्सव 2021 प्रतियोगिता की जिला स्तरीय प्रथम विजेता सभी छह विधाओं अंतर्गत बालिका, बालक वर्ग के प्रतिभागी भाग ले रहे है। प्रथम विजेता प्रतिभागियों एवं संगत कलाकारों ने वेशभूषा साज-सज्जा पेंटिग सामग्री आदि के साथ निर्धारित स्थल पर पहुंचकर अपनी प्रस्तुति प्रस्तुत की। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता की मॉनिटरिग जिला गुणवत्ता शिक्षा संभाग प्रभारी की देखरेख में हुई। बालिकाओं को सुदृढ़ शिक्षा व विकास के लिए किया नाटक का मंचन

उजियारपुर प्रखंड की बेलारी पंचायत स्थित हरदीश नारायण उच्च विद्यालय परिसर में सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर क्वेस्ट एलायंस एवं आईबीएम स्टेम फॉर ग‌र्ल्स द्वारा नाटक आयोजित किया गया। इसमें विद्यालय की 9 वीं कक्षा की छात्राओं में मनीषा कुमारी, अंकिता कुमारी, पूजा प्रिया आदि ने हमारा सपना विषय पर एकांकी नाटक प्रस्तुत किया। इसमें शिक्षक शिलाकांत झा, नसीम नजर, विष्णुदेव सिंह, सरपंच योगेंद्र सिंह शामिल हुए। कार्यक्रम के दौरान कई गतिविधियां कराई गई। जिसके बाद पैनल डिस्कशन का आयोजन हुआ। जिसमें अभिभावकों ने अपने-अपने विचार प्रकट किए। अशोक पुष्पम ने अपने सुझाव व प्रेरणा देते हुए कहा कि शिक्षा सबसे सशक्त हथियार है, जिससे दुनिया के प्रत्येक क्षेत्र में जीता जा सकता है। कार्यक्रम में महिला प्रेरणा श्रोत के तौर पर महिला विकास मंच संगठन की संचालक प्रतिमा कुमारी बच्चियों से रूबरू हुई और अपने अनुभवों को साझा किया। इसमें किस प्रकार उन्होंने जेंडर की बाधाओं को तोड़कर अपने पैरों पर खड़ी हुई, इस पर प्रकाश डाला। गैलरी वॉक में विद्यार्थियों ने अपने सपने और इस दिवस के थीम जो कि डिजिटल जेनरेशन आवर जेनरेशन था, उसको लेकर विभिन्न कलाकृतियां बनाई और विचारों को साझा किया। कार्यक्रम का मुख्य उद्वेश्य लड़कियों का समाज में क्या महत्व है और उन्हें आगे बढ़ने एवं अपने सपनों को पाने में कैसे प्रोत्साहित कर सकते हैं, था। वह अपनी महत्वाकांक्षा को जान सके और विभिन्न आकांक्षाओं पर खड़ी हो सकें। संचालन नसीम नजर, संजीव कुमार और प्रमोद कुमार रजक ने किया। इस अवसर पर स्टेम प्रोग्राम टीम की ओर से सीनियर प्रोग्राम ऑफिसर त्रिशाला सिंह, सुगमकर्ता अनुश्रुति, टिवंकल, पूनम कुमारी और नासिर इकबाल आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran