समस्तीपुर । एलएनटी फाइनेंस सर्विस लिमिटेड से 43 लाख रूपये लूट मामले में 24 घंटे बाद भी रोसड़ा पुलिस के हाथ खाली है। कम्पनी के कर्मियों एवं सीसीटीवी फुटेज के सहारे अपराधियों तक पहुंचने की कवायद पुलिस कर रही है। रविवार की देर रात रोसड़ा पहुंचे एसपी सुजीत कुमार ने घटना स्थल का जायजा लेने के साथ-साथ सभी कर्मियों से घंटो पूछताछ की। पुलिस पदाधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दिया। एसपी ने जल्द ही मामले के उद्भेदन का दावा करते हुए कहा कि सभी विन्दुओं पर अनुसंधान जारी है। वैज्ञानिक अनुसंधान की प्रक्रिया भी तत्क्षण शुरू कर दी गई है और उसके तहत एक मोबाइल भी बरामद हुआ है। दूसरे दिन भी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अजीत कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध चौधरी एवं थानाध्यक्ष एचएन ¨सह संभावित स्थलों पर सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। जबकि जिला से पहुंचे डीआईयू की टीम ने भी अपनी ओर से अनुसंधान शुरू कर दिया है। बताते चलें कि रविवार की शाम शहर के बड़ी दुर्गा स्थान के निकट तीसरे मंजिल पर स्थित एलएनटी फाइनेंस कंपनी के कार्यालय में घुसकर नकाबपोश अपराधियों ने पिस्तौल के बल पर 43 लाख 27 हजार रुपया के साथ-साथ कर्मियों का मोबाइल भी लूट लिया। सभी कर्मियों को बंधक बनाकर लूटने के पश्चात बाइक सवार अपराधी फरार होने में सफल रहे। सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा कर्मियों से गहन पूछताछ के पश्चात वैज्ञानिक अनुसंधान के तहत एसएच-55 रोसड़ा-बेगूसराय पथ पर खोदावन्दपुर थाना क्षेत्र के सागी के निकट झाड़ी से लूट की एक मोबाइल बरामद की गई। घटना के बाद से पुलिस द्वारा लगातार अनुसंधान और छापामारी जारी है।

अपराधियों को सभी सिस्टम की थी जानकारी

लूट की घटना को अंजाम देने आए अपराधियों की एक्टिविटी से यह प्रतीत होता है कि निश्चित रूप से उसे कम्पनी के इस कार्यालय के सभी सिस्टम की जानकारी थी। सीधा रुपये वाले रुम में ही प्रवेश करने तथा लॉकर की एक चाभी कर्मी और दूसरा मैनेजर के पास रहने की भी जानकारी होने से यह स्पष्ट है कि निश्चित रूप से किसी न किसी रूप में अपराधी को पहले से जानकारी थी। आसपास के लोगों और सीसीटीवी फुटेज से प्रथम ²ष्टया अपराधियों की संख्या आधा दर्जन के आसपास बतायी जाती है। दो अपराधी को बाइक पर ही सवार रहकर निगरानी करने और अन्य को अंदर जाने की बात कही जा रही है। हालांकि सीसीटीवी फुटेज के अनुसार लूट की घटना के बाद तीन बाइक पर सवार छह अपराधी समस्तीपुर की ओर जाते दिखाई दे रहे हैं। जबकि लूटी गई मोबाइल बेगूसराय की ओर मिला है। चर्चाओं की मानें तो अपने बचाव और पुलिस को चकमा देने के ख्याल से भी अपराधियों द्वारा ऐसा किया गया होगा।

अज्ञात अपराधियों के विरूद्ध दर्ज हुई प्राथमिकी

लूट के मामले में कंपनी के स्थानीय प्रबंधक मोतिहारी निवासी रविरंजन तिवारी द्वारा अज्ञात अपराधियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जिसमें घटना का समय छह बजे शाम के करीब बताते हुए पिस्टल की नोंक पर लूट की जानकारी दी है। जिसमें लॉकर में रखे 29 लाख 15 हजार छह सौ तथा एक कर्मी के जेब से 76 हजार 400 रुपया के अलावा कलेक्शन कर लाए गए अन्य राशियों का भी जिक्र किया गया है। शनिवार-रविवार बैंक बंद रहने के कारण अत्यधिक राशि होने की बताते हुए पूरे घटना क्रम का विस्तार से बताया है। अपराधियों के हुलिया एवं भाषा की भी जानकारी दी गई है। दूसरी ओर एक कर्मी ने 43 लाख 27 हजार 400 रूपये की लूट होने की बात कही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021