सहरसा। सहरसा-फारबिसगंज रेलखंड के बीच पंचगछिया स्टेशन पर जान जोखिम में डाल यात्री एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने को मजबूर हैं। इस कारण कभी भी बड़ा हादसा होने की आशंका स्थानीय लोग जता रहे हैं।

बता दें कि रेल आमान परिवर्तन में बड़ी रेल बिछाने के बाद पंचगछिया स्टेशन पर दो प्लेटफार्म का निर्माण किया गया है। प्लेटफार्म एक और दो के बीच मेन लाइन के साथ-साथ तीन पटरी बिछाई गई है। रेल विद्युतीकरण का कार्य भी संपन्न हो गया है। फुट ओवरब्रिज का निर्माण नहीं कराया गया है जबकि बड़ी रेल लाइन निर्माण के बाद ट्रेन का परिचालन भी शुरु हो गया है। बिना फुट ओवरब्रिज के यात्री एक से दूसरे प्लेटफार्म पर कैसे जाएंगे इसका सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है।

-----------

दोनों तरफ है बाजार व लगती

है मवेशी हाट

------------

पंचगछिया रेलवे स्टेशन के पूर्वी साइड खादीपुर बाजार है। सप्ताह में दो दिन मवेशी हाट लगती है। वहीं, पश्चिमी साइड सत्तरकटैया बाजार है। दीपावली पर स्टेशन के दोनों तरफ रेलवे लाइन के किनारे ही काली पूजा मेला का आयोजन किया जाता है जिसमें बड़ी संख्या में लोग जुटती है। इस बाजार से उस बाजार की तरफ रेलवे लाइन को पार कर लोग हमेशा आते जाते रहते हैं जो खतरे से खाली नहीं है।

--------

फुट ओवरब्रिज का हो दोनों छोर पर निर्माण

----------

प्रदेश जदयू नेता किशोर कुमार सिंह ने महाप्रबंधक पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर व मंडल रेल प्रबंधक पूर्व मध्य रेलवे समस्तीपुर को पत्र प्रेषित कर पंचगछिया रेलवे प्लेटफार्म के दोनों तरफ फुट ओवरब्रिज निर्माण कराने की मांग की है। उन्होंने अपने प्रेषित पत्र में स्टेशन के भौगोलिक स्थिति का जिक्र करते हुए बताया है कि इस स्टेशन से सत्तरकटैया, नवहट्टा और महिषी प्रखंड के 49 पंचायत के लोगों का सीधा संपर्क है। सरकार को अच्छा खासा राजस्व भी मिलता है। साथ में स्टेशन के आसपास प्रखंड मुख्यालय, थाना, बैंक व सिचाई प्रमंडल कार्यालय आदि अवस्थित है। इस कारण स्टेशन के दोनों छोर पर फुट ओवरब्रिज का होना, जनहित में महत्वपूर्ण बताया है।

Edited By: Jagran