सहरसा। सलखुआ स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में महिला चिकित्सक एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ के नहीं रहने के कारण महिला रोगियों को काफी समस्या का सामना करना पडता है। वहीं दूसरी ओर प्रसूति महिला को एएनएम और पुरूष चिकित्सक के सहारे प्रसव कराना पड़ता है। सरकार स्वास्थ्य सेवा में सुधार का जितना सरकार दावा कर ले परंतु कोशी तटबंध के अंदर बसे लोगों को इलाज कराने का एक मात्र साधन सलखुआ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सकों, ड्रेसर एवं ए ग्र्रेड नर्स के कमी के कारण कोसी क्षेत्र की एक बड़ी आबादी समुचित स्वास्थ्य सेवा के लाभ से वंचित रह जाते हैं। सलखुआ प्रखंड की आधी आबादी तटबंध के अंदर बसती है। वहां नदी एवं घाट नाव से पार कर किसी प्रकार मरीज सलखुआ पहुंच भी जाय तो चिकित्सकों एवं स्त्री रोग विशेषज्ञों के नहीं रहने के कारण कई बार काफी परेशानी होती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस