सहरसा। पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस ने तैयारियां तेज कर दी है। प्रथम चरण का मतदान आगामी 29 सितंबर को होना है। जिसको लेकर एसपी के नेतृत्व में प्रथम चरण के मतदान वाले पंचायतों में सघन फ्लैग मार्च किया गया। एसपी कार्यालय से निकला फ्लैग मार्च शहर के अलावा ग्रामीणों क्षेत्रों का मुआयना किया। दर्जनों बाइक सवार पुलिस पदाधिकारियों और जवानों के अलावा अन्य पुलिस अधिकारी शामिल थे। पुलिस ने पंचायतों के फरार वारंटी की सूची पहले से तैयार कर ली थी। इस दौरान वारंटी के यहां भी छापेमारी की गई। मार्च नरियार चौक, नरियार सरदार टोला, बलहा गढि़या, बरियाही, चैनपुर, दिघिया, भरौली, सोनबरसा कचहरी, परमिनियां, दिवारी, सुलिदाबाद से निकली।

----

पुलिस की कार्रवाई में तीन गिरफ्तार

----

फ्लैग मार्च में वारंटी और फरारी की गिरफ्तारी भी की गई। इस दौरान दिघिया से धनंजय यादव, नरियार से मनोज सिंह और चैनपुर से आलोक मिश्रा को गिरफ्तार किया गया। धनंजय यादव और मनोज सिंह सदर थाना में मामला दर्ज है। चैनपुर के आलोक मिश्रा के खिलाफ थाना में दहेज हत्या की प्राथमिकी दर्ज है।

----

वोटरों को सुरक्षा का आश्वासन, असामाजिक तत्वों को चेतावनी

----

फ्लैग मार्च के जरिए आम मतदाताओं को सुरक्षा का आश्वासन दिया गया तथा यह संदेश दिया गया कि पंचायत चुनाव निष्पक्ष और शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है। किसी प्रकार की गड़बड़ी नहीं होने दी जाएगी। मतदाताओं से चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने की अपील की गई तथा अपने मताधिकार का स्वविवेक से इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया गया। असामाजिक तत्वों को चेतावनी भी दी गई।

----

सभी पंचायतों में सघन फ्लैग मार्च का निर्देश

----

पुलिस अधीक्षक ने सभी पंचायतों में सघन फ्लैग मार्च करने और प्रभावी गश्ती का निर्देश दिया है। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर और सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को अपने अपने क्षेत्र में पुलिस बल के साथ प्रभावी फ्लैग मार्च करने तथा पुलिस की मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने के लिए भी निर्देशित किया गया है।

Edited By: Jagran