सहरसा। अनुमंडल स्थापना दिवस की बैठक में सिर्फ सत्ताधारी दल को अनुमंडल पदाधिकारी के द्वारा बुलाए जाने पर विपक्षी दल के नेताओं ने रोष जताया है। वहीं बुधवार को पूर्व जिला परिषद उपाध्यक्ष सह लोजद प्रदेश उपाध्यक्ष रितेश रंजन के रानीबाग स्थित समदर्शी आवास पर तमाम विपक्षी दलों की एक बैठक आयोजित हुई। बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी सिमरी बख्तियारपुर के कार्यकलाप पर विस्तृत चर्चा की गई। वहीं विपक्ष दलों के नेताओं ने एक स्वर में कहा कि वर्तमान अनुमंडल पदाधिकारी अर¨वद कुमार अनुभवहीन हैं। अनुमंडल कार्यालय भ्रष्टाचार की गिरफ्त में है। सत्ताधारी दल के एजेंट के रूप में सिमरी बख्तियारपुर में कार्य कर रहे हैं। इनका रवैया पूर्णतया जनविरोधी है। बीते 11 सितंबर को अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा अनुमंडल स्थापना दिवस पर एक विशेष बैठक बुलाई। जिस बैठक में तमाम विपक्षी दल के नेता एवं स्थानीय समाजसेवी, नगर पंचायत के प्रबुद्ध लोगो को आमंत्रित ना कर सिर्फ सत्तारूढ़ दल के लोगों को आमंत्रित किया जाना सबकुछ बयां करता है। नगर पंचायत में अनुमंडल स्थापना दिवस मनाया जा रहा है और नगर पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष सहित किसी वार्ड पार्षद को इसकी सूचना नहीं दी गई। कहा कि इस बार का स्थापना दिवस दो दिवसीय मनाने का निर्णय लेना एवं लाखों रुपये चंदा के रूप में डीलर, आंगनबाड़ी, भ्रमणशील डीलर, एफसीआई गोदाम, कृषि विभाग, ठेकेदार आदि से वसूली का लक्ष्य रखना एसडीओ की कार्यप्रणाली को दर्शाता है। इस उगाही का अंतोगत्वा असर आम जनमानस पर भी पड़ता है। वहीं इस बैठक की सूचना एक व्यक्ति विशेष द्वारा फोन दिए जाने की बात भी कही। कहा कि हम सब एक शिष्टमंडल बनाकर इन सभी बातों से वरीय पदाधिकारी से मिलकर अवगत कराएंगे। वहीं बैठक में राजद के पूर्व प्रदेश महासचिव अभय कुमार, राजद प्रखंड अध्यक्ष हैलाल अशरफ, फ्रेंड्स ऑफ तेजस्वी के जिला संयोजक बरकत अली, सलखुआ युवा राजद प्रखंड अध्यक्ष रणवीर यादव, युवा राजद नगर अध्यक्ष विपिन भगत, चंदन यादव, जाप नेता मनोज कुमार, जाप नेता संजय यादव, कांग्रेस के सचिन स्वर्णकार, विपिन यादव, मुकेश यादव, निर्मल ठाकुर, वार्ड पार्षद नरेश निराला, गणेश मिस्त्री, उत्तम लाल यादव, मो शकील, एस कुमार ¨सह, कम्युनिस्ट पार्टी के सज्जन मुखिया सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Posted By: Jagran