सहरसा। 11 अप्रैल तक विद्यालयों को बंद रखने के सरकार के निर्णय को लेकर गुरुवार को चिल्ड्रेन स्कूल्स एसोसिएशन के प्रतिनिधियों की एक बैठक आयोजित की गई। इसके बाद डीएम को मांगों का एक ज्ञापन सौंपा गया। कोसी चौक पर आयोजित प्रमंडलीय बैठक में सरकार के इस निर्णय से असहमति जताई गई।

जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में कहा गया कि बीते वर्ष विद्यालय बंद रहे इससे स्कूल संचालक, शिक्षक और अन्य कर्मियों के समक्ष भुखमरी की स्थिति बन गई। विद्यालयों पर बैंकों का कर्ज बढ़ता चला गया। बिहार सरकार द्वारा प्रस्वीकृत प्राप्त विद्यालयों में आरटीई के अंतर्गत कमजोर वर्ग के परिवार के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा शिक्षण के लिए शिक्षा विभाग द्वारा क्षतिपूर्ति राशि का भुगतान वर्ष 2017-18 से वर्ष 2018-19 एवं वर्ष 2019-20 की क्षतिपूर्ति राशि का भुगतान नहीं हुआ है। जिला संयुक्त संघर्ष समिति के अध्यक्ष सह संरक्षक रामसुंदर साहा ने कहा कि सासाराम में 12 अप्रैल से स्कूल खोलने का आदेश दिया गया है। सहरसा में भी 12 अप्रैल से प्रात:कालीन स्कूल खोलने की अनुमति दी जाय।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021