संसू, महिषी (सहरसा)। बिहार के सहरसा में एक युवक को मारपीट के बाद अपने दोनों हाथ गंवाने पड़े हैं। डाक्टर का कहना था कि युवक की जान बचाने के लिए दोनों हाथों को काटना जरूरी हो गया था। पुरानी रंजिश में हुई मारपीट में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था।

जानकारी के अनुसार, महिषी थाना क्षेत्र के राजनपुर में दस जनवरी को पुरानी रंजिश में दो पक्षों के बीच मारपीट हुई थी। इस दौरान जख्मी हुए युवक महाराजा कुमार को अंततः अपने दोनों हाथ गंवाने पड़े हैं। उसे अब पूरी जिंदगी ऐसे ही बितानी होगी।

ज्ञात हो कि दस जनवरी को राजनपुर में लखन चौधरी के पुत्र महाराजा कुमार और ब्रह्मदेव साह के परिवार के सदस्यों के बीच मारपीट हुई थी। इसमें महाराजा कुमार बुरी तरह जख्मी हो गया था। उसे इलाज के लिए पहले सदर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे पटना रेफर कर दिया।

पटना में इलाज के दौरान डाक्टरों को उसकी जान बचाने के लिए दोनों हाथ काटने पड़े। इस मामले में पीड़ित युवक के पिता लखन चौधरी ने महिषी थाने में अपने ही गांव के मुन्ना भगत, सुमन भगत, राजेश भगत व रमण कुमार पर घर में घुसकर बेटे के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है। 

इसके साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपियों ने मारपीट के बाद बेहोश हो चुके उनके पुत्र को जान से मारने की नीयत से बिजली का करंट लगाकर काफी देर तक तड़पाया। वहीं, दूसरे पक्ष के ब्रह्मदेव साह ने भी महिषी थाने में सुरेंद्र चौधरी, लखन चौधरी सहित चार-पांच अज्ञात लोगों पर केस दर्ज करवाया है।

ब्रह्मदेव का आरोप है कि इन सभी ने घर में हरबे हथियार के साथ घुसकर गाली-गलौज की। उन्होंने एक लाख की रंगदारी मांगने का भी आरोप लगाते हुए केस दर्ज करवाया है। इस संबंध में महिषी थानाध्यक्ष शिवशंकर कुमार ने बताया कि मामले का अनुसंधान किया जा रहा है। अनुसंधान में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Yogesh Sahu

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट