सहरसा। मंगलवार को विभिन्न राजनीतिक- सामाजिक संगठन के नेताओं ने सकड़ा पहाड़पुर में नाली निर्माण में अनियमितता की जांच की मांग को ले वीर कुंवर ¨सह चौक पर धरना दिया। धरनार्थियों ने जिलाधिकारी को मांगों से संबंधित ज्ञापन समर्पित कर सरकार राशि की लूट में शामिल लोगों पर कार्रवाई की मांग की।

धरने को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि प्रशासनिक उदासीनता और पंचायत प्रतिनिधियों के स्वार्थलोलुपता के कारण सरकार का सात निश्चय धरातल पर नहीं उतर पा रहा है। सकड़ा पहाड़पुर में पक्की नाली निर्माण में बड़े पैमाने पर अनियमितता बरती जा रही है। निर्माण कार्य में घटिया ईंट- बालू व अन्य सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। कई बार इसकी जांच के लिए आवेदन दिया गया, परंतु प्रशासनिक पदाधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा है। इनलोगों ने कहा कि अगर इस मामले की शीघ्र जांच नहीं होगी तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। धरना को संबोधित करते हुए पूर्व जिला पार्षद लोजद नेता प्रवीण आनंद ने कहा कि आम जनता द्वारा अनियमितता की जांच की मांग को प्रशासन को गंभीरता से लेना चाहिए। उन्होंने सकड़ा पहाड़पुर में हुई अनियमितता की शीघ्र जांच करने की मांग की। एआईएसएफ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शंकर कुमार के संचालन में संपन्न इस धरना को कांग्रेस नेता साबिर हुसैन, लोकतांत्रिक जनता दल दलित प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष प्रेमलाल सादा, लोकतांत्रिक विकास पार्टी के दिलखुश पासवान, राजद नेता मो. इम्तियाज,मो. आरिफ हुसैन, छात्र लोजद के शाहनवाज आलम, बसपा के अशोक राम, एआइएसएफ के जिलाध्यक्ष चौसन कुमार, हम सेक्यूलर के मृत्युंजय कुमार आदि ने संबोधित किया।

Posted By: Jagran