सहरसा। बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के सिमरी पंचायत में चल रहे आइटीआई छात्रावास निर्माण कार्य करा रहे मुंशी और चालकों से हथियार के बल लूटपाट किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। आइटीआई छात्रावास का कार्य करवा रहे मुंशी राजेंद्र यादव ने थाना में आवेदन देकर तीन नामजद सहित आठ लोगों पर कार्रवाई का अनुरोध किया है। आवेदन में कहा गया है कि छात्रावास भवन निर्माण का काम कराकर अपने कमरे में सो रहे थे। रात के करीब साढ़े 12 बजे सिमरी पंचायत के ही ढाब गांव निवासी डिम्पल यादव, रंजीत यादव अपने छह साथियों के साथ हथियार से लैस होकर आया और कार्य स्थल पर गाली गलौज करते हथियार के बल पर मेरा मोबाइल और मजदूरों को देने हेतु रखा करीब 65 हजार रुपये लूट लिया। बगल के कमरे में सो रहे दो चालक एक गार्ड से भी मोबाइल और रुपये लूट लिया। वहीं जाते समय हमलोगों को एक ही कमरे में बंद कर दिया। बताया कि दो दिन पूर्व डिम्पल यादव और रंजीत यादव के द्वारा कार्य स्थल पर गार्ड दीपनारायण शर्मा को मेरे पास बुलाने भेजा था जब मैं नहीं गया तो मेरे मोबाइल पर फोन कर गाली गलौज करते हुए कहा था कि अगर भवन निर्माण कराना है तो अपने ठेकेदार को बोलो कि पांच लाख रुपए रंगदारी दें नहीं तो काम करने नहीं देंगे। जिसपर कोई संज्ञान नहीं लेने पर शनिवार की रात घटना को अंजाम दिया गया। थानाध्यक्ष सुधाकर कुमार ने बताया कि आवेदन पर जांच पड़ताल कर उचित कार्रवाई की जाएगी ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस