सहरसा। प्रमंडलीय आयुक्त के सेंथिल कुमार ने सहरसा, सुपौल और मधेपुरा जिले के जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को पत्र भेजकर तीनों जिले में कोविड-19 की जांच के लिए भ्रमणशील वाहन की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। उन्होंने पत्र के माध्यम से कहा कि उन्होंने निरीक्षण के क्रम में पाया कि कोविड-19 की जांच हेतु तीनों जिले में भ्रमणशील वाहन उपलब्ध नहीं है। फलस्वरूप जिले से दूरस्त ग्रामीण इलाके में रह रहे अशक्त, वृद्ध पुरूष-महिला, बच्चे एवं अन्य को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आना संभव नहीं हो पाता है जिसके कारण कोविड-19 के संक्रमण मामले में पूर्ण आकलन नहीं हो पा रहा है। कहा कि जांच के लिए भ्रमणशील वाहन उपलब्ध होने पर दूरस्त ग्रामीण इलाके में जांच में सहुलियत होगी। साथ ही इसकी जांच के लिए इच्छुक व्यक्तियों को भी लाभ मिलेगा। आयुक्त ने वाहन में जांच दल के साथ कोविड जांच से संबंधित सभी प्रकार के संयंत्र, थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, जांच किट आदि उपलब्ध रखने का निर्देश दिया है। कहा कि जांच के क्रम में पाए गए मरीजों के उपचार हेतु आवश्यक दवा भी वाहन में उपलब्ध रहना चाहिए। आयुक्त ने जांच वाहन के ग्रामीण क्षेत्र में परिचालन के पूर्व पंचायत ग्राम के साथ 15 दिनों की एक तिथिवार समय तालिका बनाने तथा प्रत्येक पंचायत में मुखिया को सूचना देने का निर्देश दिया, ताकि एक दिन पूर्व ही प्रचार- प्रसार कर अधिक से अधिक लोगों को जांच के लिए जुटाया जा सके। उन्होंने तीनों जिले के डीएम को कोविड-19 महामारी को देखते हुए यथाशीघ्र अपने-अपने जिले में भ्रमणशील वाहन के माध्यम से जांच प्रारंभ कराने का निर्देश दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस