एनएच 30 स्थित धर्मावती नदी का पुल क्षतिग्रस्त हो जाने से वाहनों का परिचालन गत दो माह से ठप पडा़ है। जिसके चलते पटना, बनारस, भभुआ, मोहनियां जाने वाले इस रूट के व्यवसाईयों सहित आम लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। जिससे कोचस, करगहर, दिनारा, मलियाबाग सहित आसपास के बाजारों के व्यवसाय पर काफी फर्क पडा़ है। व्यवसायी सामान मंगाने में परेशान हो रहे हैं तो भाडा़ अधिक लगने के चलते सामान की कीमत भी बढ़ गई है। वहीं अपने गंतब्य तक जाने के लिए आम लोगों को भी रुट बदलकर जाना पड़ रहा है। इन रुटों से चलने वाले बसों का परिचालन भी असमान्य हो गया है।

बताया जाता है कि एनएच 30 पर धर्मावती नदी का पुल क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण पुल के दोनो तरफ एनएचएआइ द्वारा बैरियर लगा दिया गया है। उस वक्त पदाधिकारियों द्वारा तत्काल डायवर्सन बनवाए जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन दो माह के बाद भी इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जा सका है। स्थानीय व्यवसायी राजकुमार केशरी, दुर्गा साह, विद्यासागर सिंह, संजय सिंह, मुन्ना गुप्ता आदि ने बताया कि यहां पटना, गया व वाराणसी से भी किराना समान आता है। लेकिन धर्मावती नदी का पुल टूट जाने के चलते सामान मंगाने में काफी परेशानी हो रही है। एनएचएआइ के प्रोजेक्ट निदेशक अजय ठाकुर ने बताया कि रिजनल ऑफिस पटना से अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है।रिमांइडर भेजा गया है। स्वीकृति मिलते ही डायवर्सन बनाने का कार्य शुरु हो जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस