रोहतास। स्थानीय रेलवे स्टेशन पर नशामुक्ति को ले बुधवार को महिला बटालियन केंद्र बेदा के प्रशिक्षु पुलिस कर्मियों ने जंक्शन परिसर में नुक्कड़ नाटक किया। नुक्कड़-नाटक के माध्यम से सदस्यों ने बताया कि नशा हंसता-खेलता व खुशहाल घर-परिवार को बर्बाद कर देता है। बहरहाल नशाखोरी सर्वनाश की जननी है। इससे घर का विकास रूक जाता है व हमेशा कलह रहता है। इस पर रोकथाम में महिलाओं की भूमिका अहम है।

शकुंतला कुमारी के नेतृत्व में टीम ने नशाखोरी से होने वाले नुकसान पर आकर्षक प्रस्तुति दी। कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन नहीं बल्कि उजड़ा चमन को बसाना है। शराब वह विषाणु है, जो इंसान को जीते जी मार देता है। इसलिए लोगों को शराब सहित अन्य नशा का त्याग करना चाहिए। शराब से स्वास्थ्य, सम्पत्ति व प्रतिष्ठा समाप्त हो जाती है। आत्म बल बहुत कम•ाोर हो जाता है। अभियान में बटालियन की रंजीता पाण्डेय, ब्यूटी कुमारी, रेणु कुमारी, उमेश मिश्रा, जय प्रकाश राय, आदित्य प्रकाश, श्रीराम तिवारी, पंकज कुमार, संतोष कुमार, राजकुमार रमण, अरुण कुमार, सतीश कुमार, राजेश कुमार, हिरम्बु कुमार ¨सह समेत अन्य ने भाग लिया। गौरतलब है कि पिछले माह जिले के एक दिवसीय दौरे पर बिहार सैन्य पुलिस के डीजी गुप्तेश्वर पांडेय व रेल पुलिस के एडीजी आलोक राज ने नशा मुक्त समाज बनाने को ले अभियान चला रहे हैं। इस दौरान रेल पुलिस द्वारा स्थानीय स्टेशन पर गोष्ठी भी आयोजित की गई । इस अवसर पर स्टेशन प्रबंधक उमेश कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर पंकज प्रकाश, जीआरपी थानाध्यक्ष ज्योति प्रकाश समेत अन्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran