रोहतास। गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ने से मध्यमवर्गीय परिवार का रसोई का बजट बिगड़ता जा रहा है । क्योंकि सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी होने से आम लोगों की कमर टूट रही है। उक्त बातें राजद प्रदेश महासचिव रामनाथ यादव ने कही। कहा कि 12 फरवरी से करीब 150 रुपये रसोई गैस के दामों में बढ़ोतरी से गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार का बजट पूरी तरह से बिगड़ गई है। आने वाले दिनों में सिलेंडर गैस की जगह अब लकड़ी और अन्य सामग्री के जरिए रसोई में खाना बनाना पड़ेगा।

वहीं राजद के प्रदेश सचिव नकीब अहमद ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की कार्यशैली से उनकी मंशा साफ दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा कि मोदी और नीतीश सरकार महंगाई को रोकने में नाकाम साबित हुई है । दिल्ली चुनाव परिणाम से केंद्र सरकार हताश होकर जनता पर रसोई गैस के दामों में वृद्धि कर आम लोगों पर बोझ देना चाहती है। वही गृहणी मुन्नी देवी का कहना है की महंगाई दिन पर दिन बढ़ती जा रही है, जिससे घर चलाना मुश्किल हो रहा है। व्यवसायी अली असगर अंसारी का कहना है की जिस उम्मीद से देशवासियों ने प्रधानमंत्री मोदी को वोट दिया था, उस मापदंड पर सरकार खरा नहीं उतरी। महंगाई और बेरोजगारी चरम सीमा पर है। सरकार को रोजगार और महंगाई के दिशा में बड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस