प्रखंड के बसडीहां गांव की रहने वाली 96 वर्षीया शिक्षिका, स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी व पत्रकार सतीश चंद्र चतुर्वेदी के माता इंद्रावती देवी की तेरहवीं पर श्रद्धांजली सभा आयोजित की गई। जिसमें काफी संख्या में लोग उपस्थित होकर श्रद्धा समुन अर्पित की। साथ ही लोगों ने उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने कहा कि इंद्रावती देवी कुशल शिक्षाविद् के साथ स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी भी थी। जिन्होंने विशेषकर बच्चियों की शिक्षा के लिए अभियान चला उन्हें शिक्षित करने का काम किया। वे हमेशा महिला शिक्षा के प्रति संवेदनशील रही व गरीब बच्चियों को पढ़ाई के लिए आजीवन मदद पहुंचाती रही। उनका निधन परिवार व समाज के लिए अपूर्णनीय क्षति है।

इस अवसर पर ओम नारायण चौबे, राघवेंद्र नारायण चौबे, अशोक चौबे, सतीशचंद्र चतुर्वेदी, योगेंद्र पाठक, बंटु सिंह, समाजसेवी अमित राय, मुरलीधर दूबे, प्रदीप पांडेय, पूर्व मुखिया जितेंद्र कुमार पाठक, हरेराम ठाकुर, सोनु ठाकुर, भाजपा प्रखंड उपाध्यक्ष गुड्डु राय, जदयू प्रखंड अध्यक्ष रवि भेलारी, उपेंद्र ओझा, कांग्रेस के प्रमोद पांडेय, राजद के संतोष सिंह, माले के रामवचन केसरी, बबुआ सिंह, के अलावा ब्रजेश पाठक, नरेंद्र चौहान, पार्थसारथी पांडेय, प्रवीण दूबे, सतीश कुमार, दिनेश कुमार पांडेय, कमलाकांत दूबे,निरंतर पांडेय, सुरेंद्र तिवारी, मुक्तेश्वर दूबे, आदर्श कुमार तिवारी, सत्येंद्र दूबे समेत अन्य ने उपस्थित होकर श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस