जागरण संवाददाता, सासाराम : शहर में पिछले दो दिनों में हुई बारिश के बाद शहर के अधिकांश भागों में हुए जल जमाव की स्थिति से निबटने के लिए नगर निगम हरकत में आ गया है। पानी-पानी हुए शहर को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए सोमवार को नगर निगम के नगर आयुक्त राजेश गुप्ता ने वार्ड संख्या 9, 10 व 11 का जायजा लिया। जायजा लेने के बाद नगर आयुक्त ने अपने अधीनस्थ कर्मियों को कई आवश्यक निर्देश भी दिया। जायजा लेने के दौरान बताया कि शहर के प्राचीन जल निस्तारण मार्ग को अधिकांश जगहों पर अतिक्रमण कर लिए जाने से समस्या उत्पन्न हुई है।

नगर आयुक्त ने बताया कि अब अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ सख्त अभियान चलाया जाएगा। जल निकासी को ले पोस्ट आफिस समेत कई अन्य इलाकों की नालों की सफाई किया जा रहा है। बताया कि बिना नक्शा पास कराएं ही शहर में बने धड़ल्ले से मकान के कारण समस्या गंभीर हुई है। अब ऐसे लोगों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाएगी। जल निस्तारण की प्राचीन व्यवस्था को ठीक करने की भी कवायद तेज कर दी गई है। बताते चले कि पिछले दो दिनों के दौरान हुई बारिश ने शहर में भारी तबाही मचा दी है। शहर के धर्मशाला रोड, न्यू ऐरिया, एसपी जैन कालेज रोड, दलेलगंज, करनसराय, पंजाबी मोहल्ला, मदरसा रोड, लश्करीगंज बांध रोड, शेरशाह रौजा रोड समेत कई मोहल्लों में जल जमाव की स्थिति कायम हो गई है। जिसको ले नगर निगम के अधिकारी से लेकर कर्मचारियों की कार्यशैली पर स्थानीय लोग सवाल खड़ा कर रहे है। लोगों का मानना है कि निगम के अधिकारी बरसात से पहले शहर के नालों की बेहतर ढ़ंग से सफाई कर देते तो जल जमाव की समस्या आती ही नहीं।

Edited By: Jagran