रोहतास। शहर में जाम की समस्या विकराल रुप धारण करती जा रही है। खासकर रमारानी मोड़ से वीर कुंवर सिंह चौक के बीच में प्रत्येक दिन घंटों जाम रहता है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण सड़क के आधे से अधिक हिस्से में वाहनों की अवैध पार्किंग है। जिससे चौड़ी सड़क भी संकरी हो जाती है। डेहरी अनुमंडल मुख्यालय होने की वजह से ग्रामीण क्षेत्र से लोग यहां दिन भर आते-जाते रहते हैं। यातायात नियमों की अनदेखी के कारण जाम की समस्या बढ़ती जा रही है। जिससे आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। यातायात नियमों का हो रहा उल्लंघन:रामारानी मोड़ से वीर कुंवर सिंह चौक के बीच में नवनिर्मित एनएच दो सी पर पार्किंग जोन की तरह वाहन खड़ा कर देने से आने जाने वाले दूसरे वाहन व आमलोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मामले को लेकर बस चालकों का कहना है कि सासाराम से तिलौथू, नौहट्टा की ओर जाने वाली गाड़ियां तथा मुख्य बाजार से होकर सासाराम की ओर जाने वाले वाहनों को इससे काफी परेशानी हो रही है। कई जगह बने गैराज के कारण भी सड़क पर वाहनों की अवैध पार्किंग हो रही है। इस तरह रमारानी चौक से वीर कुंवर सिंह चौक तक 80 फीट चौड़ी सड़क की 60 फ़ीसद हिस्सा अवैध पार्किंग की भेंट चढ़ चुकी है। 1.81 अरब से हुआ था एनएच दो सी का चौड़ीकरण:

बताते चलें कि एक अरब 81 करोड़ की लागत से डेहरी वीर कुंवर सिंह चौक से रोहतास तक 40 किलोमीटर एनएच 2 सी का चौड़ीकरण किया गया था। जिससे लगा था कि अब यातायात में परेशानी नहीं होगी। किंतु सड़क का अधिकतर हिस्से पर लोग गाड़ी खड़ी कर पार्किंग जोन के रूप में उपयोग कर रहे हैं। बस्तीपुर निवासी दयानंद सिंह कहते हैं कि यह सड़क व्यस्ततम सड़कों में एक है। इसके बावजूद यहां अवैध वाहन पार्किंग के चलते अक्सर जाम की समस्या बनी रहती है। जबकि इस रूट पर रामारानी जैन बालिका उच्च विद्यालय, डीलियां हाई स्कूल, मिडिल स्कूल के साथ-साथ कई अस्पताल भी हैं। जिसके चलते इस इलाके में यातायात का काफी दबाव रहता है। जाम के कारण कभी-कभी मरीजों को अस्पताल पहुंचने में उनकी जान पर बन जाती है। कभी कभार नगर परिषद द्वारा अभियान चला कर सड़क से वाहन हटवाने की व्यवस्था की जाती है। लेकिन एक -दो दिन बाद ही फिर वही समस्या यथावत बन जाती है।

कहते हैं अधिकारी:

जाम की समस्या के स्थाई समाधान के लिए अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को पत्र लिखा जाएगा, ताकि उस क्षेत्र में भी पर्याप्त ट्रैफिक पुलिस की व्यवस्था हो सके। इसके लिए लोगों को भी जागरूक होना पड़ेगा। सड़क पर वाहन खड़ा नहीं हो, इसकी निरंतर निगरानी कराई जाएगी और यातायात नियमों के तहत कार्रवाई भी की जाएगी।

सुशील कुमार, ईओ

नगर परिषद, डेहरी-डालमियानगर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस