रोहतास। नगर विकास व आवास विभाग के तहत कार्यान्वित होने वाली चिर प्रतीक्षित अंडर ग्राउंड ड्रेनज सिस्टम व अशोक सम्राट भवन का शिलान्यास मंगलवार को विभागीय मंत्री सुरेश शर्मा ने रिमोट से किया। इस अवसर पर पटना में उनके साथ मुख्य पार्षद कंचन देवी, ईओ कुमारी हिमानी, सशक्त कमेटी सदस्य विरेंद्र चौरसिया व कलवाती देवी समेत अन्य मौजूद थे।

शिलान्यास के बाद मुख्य पार्षद ने कहा कि नगर परिषद क्षेत्र में ड्रेनेज सिस्टम जल्द ही आकार लेगा। इसके बन जाने से शहर में जलजमाव से निजात मिलेगी। इस ड्रेनेज के निर्माण पर लगभग 35.53 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। वहीं सासाराम में रौजा गेट के पास लगे शिलान्यास स्थल पर आयोजित कार्यक्रम में स्थानीय विधायक डॉ. अशोक कुमार, जदयू जिलाध्यक्ष नागेंद्र चंद्रवंशी, उपमुख्य पार्षद विजय महतो, पूर्व वार्ड पार्षद अतेंद्र ¨सह, संकेत ¨सहा, महिला आयोग की सदस्य रजिया कामिल अंसारी, जदयू नेता ¨रकू ¨सह, अनिल ¨सह, वार्ड पार्षद राजेंद्र चौरसिया, धनजी यादव, सचिन कुमार, अनुप कुमार राजद नेता सर्वजीत ¨सह खालसा, सलाम वेग, राजीव रंजन, ठाकुर कुशवाहा, सुहैल अंसारी, चीकु खान, कलमदार, भाजपा नेता शिवनाथ चौधरी, सोनू ¨सहा के अलावा बुडको के परियोजना निदेशक राकेश कुमार व उपपरियोजना निदेशक जितेंद्र कुमार उपस्थित थे।

योजना - स्ट्रॉम वाटर ड्रेनेज सिस्टम

प्राक्कलित राशि- 35.53 करोड़

ड्रेनेज की लंबाई - 11.2 किलोमीटर

कुल आउट फॉल - 03

कार्य पूरा करने की अवधि - 18 माह

योजना - अशोक सम्राट भवन

प्राक्कलित राशि - 1.16 करोड़

कार्य पूरा करने की अवधि - 12 माह

उपलब्धि लेने की लगी होड़

सासाराम : शहर में बनने वाले स्ट्रॉम ड्रेनेज सिस्टम की उपलब्धि लेने वालों की होड़ रही। राजद व जदयू दोनों ने योजना पर अपनी उपलब्धि गिनाई है। राजद विधायक अशोक कुमार के अनुसार उनके कार्यकाल में वाटर ड्रेनेज सिस्टम के अलावा पुराने जीटी रोड की चौड़ीकरण के लिए 72 करोड़, मीठा पानी योजना पर 17 करोड़ व पावर ग्रिड व सब स्टेशन पर 110 करोड़ का कार्य प्रारंभ कराया गया है। अमृत के तहत शहर में सात पानी टंकी, जिसमें चंदन शहीद पहाड़ी पर भी वाटर टावर बनाने की योजना भी शामिल है। शहर के बेदा में बस स्टैंड, तिलौथू व केरपा पावर सब स्टेशन को अपनी उपलब्धि बताया। वहीं जदयू जिलाध्यक्ष नागेंद्र चंद्रवंशी ने वाटर ड्रेनेज सिस्टम के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी। कहा कि इस संबंध में जदयू नेताओं ने मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया था। वाटर ड्रेनेज सिस्टम को ले पूर्व वार्ड पार्षद व भाजपा नेता अतेंद्र ¨सह ने योजना चयन व उसके डीपीआर तैयार करने में भेदभाव करने का आरोप लगाया है। उनके अनुसार मौजूदा ड्रेनेज सिस्स्टम बौलिया से प्रारंभ की जा रही है। ऐसी स्थिति में शहर के जल जमाव वाले पूर्वी इलाका अछूता रह गया है। शहर के न्यू एरिया समेत कई वार्ड बरसात में जल जमाव की समस्या से प्रति वर्ष परेशान रहता है। उनकी माने तो पूर्व में शांति प्रसाद जैन कॉलेज से अंडर ग्राउंड ड्रेनेज सिस्टम योजना को प्रारंभ करने का प्रस्ताव था। वहीं पूर्व विधायक जवाहर प्रसाद ने कहा कि शहर में जलजमाव से निजात दिलाने के लिए वे विधानसभा में ध्यान आकृष्ट कराया था। जिसके बाद सरकार ने इसकी स्वीकृति दी थी। तथा निर्माण की हरी झंडी प्रदान की गई थी। लेकिन उसका श्रेय अन्य लोग ले रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप