रोहतास : सदर अस्पताल समेत जिले के नौ केंद्रों पर चौथे दिन गुरुवार को कोरोना का टीका चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया। 455 पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मी विभिन्न केंद्रों पर टीका लेने अपने केंद्र पर पहुंचे। इस दूर दराज से हेल्थ वर्कर वैक्सीन लेने के लिए निर्धारित टीका केंद्र पर पहुंच थे। जिन लोगों ने टीका लगवाया, उसमें सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार, जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीसी संजीव कुमार, जिला मूल्यांकन व अनुश्रवण पदाधिकारी रितुराज प्रमुख रूप से शामिल रहे। हालांकि अपेक्षाकृत संख्या चिकित्सकों व स्वास्थ्यकर्मियों की कम रही। महज 50 फीसद कर्मी व चिकित्सक ही टीका लगवाने के लिए अपने केंद्रों पर पहुंचे थे। नौ सौ कर्मियों को आज टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसमें से 455 चिकित्सकों- कर्मियों ने वैक्सीन लगवा वैश्विक महामारी कोरोना के रोकथाम के वाहक बने। सदर अस्पताल परिसर में बने जीएनएम संस्थान के टीकाकरण केंद्र में मुख्य रूप से सीएस डॉ. सुधीर कुमार के अलावा सदर अस्पताल में कार्यरत अन्य चिकित्सा पदाधिकारी व स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना की वैक्सीन लगाई गई। टीकाकरण के बाद ये स्वास्थ्यकर्मी पूरी तरह से खुश नजर आए और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को भी इसके लिए प्रेरित किया।

सीएस के मुताबिक शत-फीसद पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने का कार्य किया जाएगा।

डीआइओ डॉ. आरकेपी साहु ने बताया निर्धारित टीकाकरण स्थलों पर आज नौ सौ पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को सूचना भेज बुलाया गया था। जिसमें 455 कर्मियों व चिकित्सकों ने उपस्थित होकर टीका लगवाया। प्रतिरक्षित स्वास्थ्य कर्मी टीका लगने के बाद पूरी तरह खुश हैं। तथा उन्हें किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई है। अभियान को पूरी तरह से सफल बनाने के लिए पंजीकृत कर्मियों को प्रेरित किया जा रहा है। बिक्रमगंज अनुमंडलीय अस्पताल में 67, चेनारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 50, डेहरी अनुमंडलीय अस्पताल में 50, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र करगहर में 50 , सीएचसी काराकाट में 49, सासाराम पीएचसी में 30, सदर अस्पताल सासाराम में 60, पीएचसी शिवसागर में 49 , नारायण मेडिकल कॉलेज में 50 लोगों को टीका दिया गया। कहते हैं प्रतिरक्षित चिकित्सक

- कोरोना वैक्सीन को ले तरह-तरह की फैलाई गई अफवाहें सरासर गलत है। यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित व क्रियाशील है। अबतक जितने भी स्वास्थ्य कर्मियों व चिकित्सकों को टीका लगाया गया है, उन्हें किसी प्रकार साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। जो भी पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मी व चिकित्सक हैं, वे निसंकोच व बिना किसी डर भय के टीका लगवा कोरोना को हराने में सहभागी बने।

डॉ. सुधीर कुमार, सिविल सर्जन - कोविड का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। टीकाकरण कराने के बाद उन्हें किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं देखने को मिली। पूर्व की तरह बिना कोई परेशानी हुए अपने कार्य को कर रहा हूं। वैक्सीनेशन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें और खुद को सुरक्षित रखें।

संजीव कुमार, डीपीसी जिला स्वास्थ्य समिति - टीकाकरण को लेकर किसी प्रकार की गलत भ्रांति पालने की आवश्यकता नहीं है। उ टीका लेने के बाद मुझे किसी भी प्रकार की कोई साइड इफेक्ट दिखाई नहीं दे रही है। कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए टीकाकरण जरूर करवाएं।

रितुराज , जिला मूल्यांक व अनुश्रवण पदाधिकारी जिले में कोरोना का टीकाकरण :

लक्ष्य : 900

उपलब्धि : 455

टीकाकरण फीसद : 50.55 फीसद टीकाकरण केंद्र टीका लिए स्वास्थ्यकर्मी

अनुमंडलीय अस्पताल बिक्रमगंज 67

अनुमंडलीय अस्पताल डेहरी - 50

जिला अस्पताल सासाराम - 60

सीएचसी चेनारी - 50

सीएचसी शिवसागर - 49

सीएचसी करगहर - 50

सीचएसी काराकाट - 49

पीएचसी सासाराम - 30

एनएमसीसएच - 50

-----------------------

पेंशनरों को भी दिया जाएगा कोरोना टीका, मांगी गई सूची

जागरण संवाददाता, सासाराम : स्थानीय समाहरणालय परिसर स्थित पेंशनर समाज सभा भवन में गुरुवार को कार्यकारिणी समिति की बैठक हुई। जिसमें गणतंत्र दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। बैठक में सभी पेंशनरों से मुख्य सचिव के निर्देश के आलोक में अपना नाम, पता, पहचान पत्र नंबर या पैन कार्ड नंबर जिला कार्यालय में जमा करने का आग्रह किया गया। बैठक में सचिव श्रीराम तिवारी ने वर्ष 2020 के आय- व्यय से संबंधित विवरण भी प्रस्तुत किया। जिसे सर्वसम्मिति से सदस्यों ने स्वीकृत कर लिया । सचिव ने जानकारी दिया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना टीकाकरण के लिए पेंशनरों सेभी नाम व पता मांगा गया है। जिसकी सूची सिविल सर्जन को उपलब्ध कराई जाएगी।बैठक में रामजी दूबे, गोपाल सिंह, काशीनाथ पाण्डेय, मोहम्मद इरफान खां, वीरेंद्र कुमार, कृष्णनाथ पाण्डेय, नर्वदेश्वर द्विवेदी, नागेंद्र प्रसाद सिंह, बृज बिहारी सिंह, जगरनाथ सिंह, रामाशीष लाल समेत कई अन्य उपस्थति थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप