पूर्णिया। सरकारी कर्मी आमलोगों के प्रति कितने संवेदनहीन हो गए हैं, यह उनकी कार्यशैली से पता चला है। सरकार के आदेश को धता बताते हुए प्रखंड कर्मियों ने लाखों की संख्या में मास्क तो लिए, परंतु सभी मास्क बांटने की बजाय वार्ड सदस्यों को दे दिया, जो उनके घरों की शोभा बढ़ा रहे हैं।

अकेली धूसर टीकापट्टी पंचायत में लगभग बीस हजार मास्क वार्ड सदस्यों के घर की शोभा बढ़ा रहे हैं। दैनिक जागरण में शनिवार के अंक में मास्क की खबर जैसे ही प्रकाशित हुआ यहां के लोगों में उबाल आ गया। सभी लोग ने एक ओर से बताया कि उन्हें आजतक मास्क नहीं मिल पाया है । जब इसकी तहकीकात की गयी, तब जो बात सामने आयी वह कम चौकाने वाली बात नहीं है । सबको पता है कि सरकार ने इस बार प्रत्येक परिवार को छह मास्क उपलब्ध कराने का आदेश सरकारीकर्मियों को दिया है । बीडीओ द्वारा मास्क बांटने की जिम्मेदारी पंचायत सचिव एवं पंचायत कार्यपालक सहायक को दिया । इन्होंने जो लोगों के प्रति संवेदनहीनता दिखायी है, वह शायद किसी ने सोचा भी नहीं था । इस बात की पड़ताल में पता चला कि अकेले घूसर टीकापट्टी पंचायत के वार्ड नंबर पांच की वार्ड सदस्या के यहां 12 सौ मास्क पडे़ हुए थे । वार्ड पांच की सदस्या नीलम देवी ने बताया कि उन्हें ही नहीं, बल्कि इस पंचायत के सभी वार्ड सदस्यों के यहां जबरदस्ती कार्यपालक सहायक अमरदीप कुमार ने सभी वार्ड सदस्यों को थमा दिया गया कि वे बांट दें । जब उनसे पिछले साल के अनुसार 1440 मास्क की बात कही गयी तथा सरकार के आदेश का हवाला दिया गया, तब उनके द्वारा कहा गया कि किसी प्रकार बांट दे। इनके अलावा यहां के लगभग सभी वार्ड सदस्यों ने बताया कि उनके यहां मास्क पडे़ हुए हैं । प्रखंड क्षेत्र के नीतीश भारती, ललन राय, अजय कुमार आदि ने डीएम से इसकी जांच की मांग की है ।

कोट : कार्यपालक सहायक द्वारा जबरन 1200 मास्क मना करने के बावजूद उनके यहां दे दिए गए हैं, जो अबतक नहीं बांटे गए हैं। नीलम देवी, वार्ड सदस्या, वार्ड नंबर पांच, धूसर टीकापट्टी पंचायत ।

कोट : जांच की जा रही है, आखिर क्यों कार्यपालक सहायकों द्वारा लोगों के बीच मास्क नहीं बांटा जा रहा है तथा वार्ड सदस्यों के यहां क्यों रखे हुए हैं। परशुराम सिंह, बीडीओ, रूपौली ।

Edited By: Jagran